Press "Enter" to skip to content

शांति नगर का गड्ढानुमा पथ जानलेवा हुआ, आये दिन होती है हादसा


  • फिसलने से बाइक सहित चालक डूबा,पत्रकार की मद्त से बची जान

  • पता ही नहीं चलता की सड़क में गड्ढा है या गड्ढे में सड़क

राष्ट्रीय खबर

सीतामढ़ी : शांति नगर पथ में सड़क के गड्ढे में हिचखोले खाते हुए एक बाइक सवार

सड़क किनारे पानी से भरे गड्ढे में बाइक सहित गिर पड़ा। उसी वक्त उक्त पथ से राष्ट्रीय

खबर के पत्रकार मो मेराज भी बाइक से गुजर रहे थे,नजर पड़ते ही लोगो की मदद से पानी

में डूबे बाइक सवार को बाहर निकाला। फिर काफी मशक्कत के बाद उसका बाइक भी

बाहर निकाल लिया गया। मालूम हो कि मेहसौल पूर्वी वार्ड नंबर 12 निवासी सन्नी कुमार

जब अपने घर से मेहसौल होते हुए बैंक ऑफ़ बड़ौदा शांति नगर चौक के लिए जा रहा था।

तो रास्ते में ही उसका बाइक का चक्का स्लिप कर गया और रोड के बगल से ठेकेदार

द्वारा सड़क चौड़ा करने के लिए उठाये गए मिट्टी की जगह रोड हो चुके में गहरे गड्ढे में वह

बाइक सहित गिर पड़ा। रोड का हाल बद से भी बदतर है। लोगों को बहुत परेशानी का

सामना इस रोड पर करना पड़ रहा है। यहां घर तो काफी आलीशान बना हुआ है लेकिन

निकलने के लिए दूर-दूर तक कहीं रोड का पता नहीं चलता है। इस कॉलोनी में बहुत बड़े-

बड़े लोग रहते हैं लेकिन बड़े-बड़े लोग सिर्फ अपने घरों को बड़ा करने में लगे हैं। आज हाल

यह है कि लोग सोचने को मजबूर है कि वह अपने घर से बाहर कैसे निकले,बीच रोड पर ही

2 से 3 फीट का गड्ढा मौजूद है। सोमवार को ही मेहसौल पूर्वी वार्ड नंबर 12 निवासी सन्नी

जब अपने घर से मेहसौल होते हुए बैंक ऑफ़ बड़ौदा शांति नगर चौक के लिए जा रहा था

तो रास्ते में ही उसकी गारी सिलिप कर रोड पर गिर जाती है ।

शांति नगर के रोड पर पत्रकार ने एक को गड्ढे से निकाला

रोड के बगल से ठेकेदार द्वारा उठाया हुआ मिट्टी जोकि रोड को चौड़ा करने के लिए डाला

गया था वह इतना गढ़ा था कि जब गाड़ी उस गड्ढे में जाती है तो गाड़ी का भी पता नहीं

चलता है कि गाड़ी कहां है । जब राष्ट्रीय खबर के एक पत्रकार वहां से गुजर रहे थे तो वहां

उस वाहन चालक का मदद कर उस गाड़ी को बाहर निकाला गया। पूछे जाने पर वह बताया

कि हम लोग लगभग इसमें डेढ़ घंटा से परेशान थे इस गाड़ी को निकालने के लिए । यह

हाल मेरे साथ ही नहीं रोज चार-पांच गाड़ी के साथ ऐसा ही घटना घटती है लेकिन नहीं तो

कोई देखने वाला है और ना ही कोई रोड बनाने वाला है। लोगों से पूछे जाने पर लोग बताते

हैं कि रोड का काम शुरू किया गया था और हम लोग के जमीन से ही मिट्टी निकालकर रोड

पर डाला गया ।

आये दिन कोई न कोई दुर्घटनाग्रस्त होता रहता है

बगल में जो घटना हुआ है आए दिन उस गड्ढे में कोई न कोई मुसाफिर उस गड्ढे का

शिकार होते हैं और उसमें गिरते हैं बगल से मिट्टी काट,रोड पर मिट्टी डालने के बाद नहीं तो

किसी ठेकेदार का पता है नहीं  काम करने वाले मजदूर का नहीं काम करवाने वाले का और

परेशानी आज तक इस मोहल्ले के लोगों को झेलना पड़ रहा है अब तो लोग यहां तक कहते

हैं कि भगवान ही भरोसे है कि कब तक ऐसे हम लोग को रहना पड़ेगा एक सब्जी लाने के

लिए भी सोचना पड़ता है कि कैसे सब्जी लाने जाएं और कैसे घर से बाहर निकले। लोगो

का कहना है कि इस रोड से एक बार घर से बाहर निकलने पर लोग वापस ऐसे आते है

मानो की जैसे खेतो में खेती कर आए है। यह रोड शांति नगर स्थित वासियों के लिए

लाइफ लाइन रोड है उनको साथ मजबूरी है कि इन लोग को जाना भी इसी रोड से है दूसरा

इन लोगों के पास कोई विकल्प भी नहीं है।

Spread the love
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

Be First to Comment

Mission News Theme by Compete Themes.