Press "Enter" to skip to content

देश की सीमा की रक्षा के लिए तैनात जवान का परिवार घर में सुरक्षित नहीं







झरिया : देश की रक्षा करने वाले हमारे भारतीय सेना के जवानों को अपने ही परिवार की रक्षा के लिए मीडिया से गुहार लगानी पड़ रही है। झरिया थाना क्षेत्र में राजग्राउंड के रहनेवाले सेना के जवान राजेश यादव का कहना है कि हम देश की रक्षा करें या अपने परिवार की। पड़ोस के ही रहनेवाले ने मां और भाई के साथ मारपीट की। जिसमें मां का हांथ टूट गया। जबकि भाई भी घायल है। थाना में लिखित आवेदन दिया गया, लेकिन कार्रवाई करने के नाम पर पुलिस केस उठाने का दबाव बना रही है। साथ ही पैसे की भी मांग पुलिस कर रही है। यह आरोप सेना का जवान राजेश कुमार ने पुलिस के ऊपर लगाया है। राजेश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मीडिया से बात करते हुए कहा कि 29 अगस्त को पड़ोस के ही रहनेवाले केदार यादव और उनके परिवार के द्वारा मेरी मां कौशल्या देवी और भाई महेश यादव के साथ मारपीट की गई। जिसमें मां का हांथ टूट गया और भाई घायल है। भाई द्वारा मामले की लिखित शिकायत झरिया थाना में की गई, लेकिन इतने दिन बीत जाने के बाद भी कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। उल्टा केस को रफा दफा करने के लिए झरिया थानेदार हमारे परिवार के ऊपर दबाव बना रहे हैं। साथ परिजनों से पैसे की भी मांग कर रहे हैं। देखें पूरी खबरउन्होंने कहा कि मेरा छोटा भाई भी राकेश यादव सेना का जवान है। जिसकी पोस्टिंग श्रीनगर में है। उसके ऊपर छेड़खानी का झूठा मुकदमा दर्ज कर दिया गया है और हमारे केस को हल्का कर दिया गया है। पूर्व में पिता के साथ उन लोगों के द्वारा मारपीट की गई थी। जिसमें सही सही धारा नहीं लगाया गया था। उन्होंने कहा कि देश की सेवा के लिए वह अपने परिवार को छोड़कर अपनी ड्यूटी जान हथेली पर रखकर रहा है, लेकिन बड़े ही दुर्भाग्य की बात है कि मेरा खुद का परिवार सुरक्षित नहीं है। उन्होंने प्रशासन से मीडिया के माध्यम से न्याय की गुहार लगाई है। पूरे मामले की शिकायत एसएसपी से भी की गई है। एसएसपी ने जांच का आश्वासन दिया। मामले को लेकर जब झरिया थानेदार पंकज झा से बात की गई तो उन्होंने अपने ऊपर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया है।



More from रक्षाMore posts in रक्षा »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

One Comment

Leave a Reply