fbpx Press "Enter" to skip to content

लौट रहे मजदूरों का सही आंकड़ा प्रशासन के पास उपलब्ध नहीं

संवाददाता

अनगड़ा : लौट रहे प्रवासी मजदूरों से फैल रहे संक्रमण को लेकर भय का माहौल है। इस

बीच नई जानकारी यह भी मिली है कि प्रखंड में विभिन्न राज्यों से आने वाले प्रवासी

मजदूरों का सही आंकड़ा स्थानीय प्रशासन के पास नहीं है। प्रशासन के पास वही आंकड़े हैं

जो उनके द्वारा बसों ट्रेनों या अन्य साधनों के माध्यम से मजदूरों को लाया गया है।

जबकि वैसे प्रवासी मजदूर जो निजी साधनों और खुद के प्रयास से घर लौट रहे हैं इनका

आंकड़ा प्रशासन के पास नहीं है। सरकारी आंकड़े के अनुसार अबतक 200 से 250 प्रवासी

मजदूर प्रखंड लौट चुके हैं। जबकि ऑफ रिकॉर्ड इनकी संख्या कहीं ज्यादा है। प्रखंड में

प्रतिदिन बड़ी संख्या में ऐसे प्रवासी मजदूर भी आ रहे हैं जिनकी सूचना प्रशासन को नहीं

है। ऐसे मजदूरों का ना तो थर्मल स्क्रीनिंग हो रहा है, और ना ही प्रशासन के पास इसका

आंकड़ा है। यह मजदूर सीधे अपने घर चले आ रहे हैं। सूत्रों की मानें तो प्रतिदिन कार ट्रक

टेंपो रिजर्व कर यहां तक की साइकिल और पैदल भी दर्जनों प्रवासी मजदूरों का घर लौटना

बदस्तूर जारी है। कई तो अपने घरों में छिपकर रह भी रहे हैं। इनमें से कई प्रवासी मजदूर

रेड जोन घोषित हैदराबाद महाराष्ट्र राजस्थान गुजरात दिल्ली आदि राज्यों से आ रहे हैं।

जो चिंता का विषय बना हुआ है।

लौट रहे अनेक लोग चुपके से आ रहे हैं

बगैर प्रशासन को सूचना दिए सभी अपने गांव में प्रवेश कर रहे हैं। इन प्रवासी मजदूरों की

थर्मल स्क्रीनिंग तक नहीं होने से गांव में संक्रमण का खतरा बढ़ने की प्रबल संभावना है।

वैसे भी अनगड़ा में लॉक डाउन कंही दिख नही रहा। पुलिस प्रशासन भी मूकदर्शक बना

हुआ है। लोग बेधड़क निकल रहे है। यहां वंहा जमावड़ा भी लगा रहा है। शायद यही वजह है

कि स्थानीय प्रशासन को इन मजदूरों का थर्मल स्क्रीनिंग कराने व स्वास्थ्य रिपोर्ट जांच

करने की आवश्यकता महसूस नहीं होती।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

2 Comments

  1. […] लौट रहे मजदूरों का सही आंकड़ा प्रशासन … संवाददाता अनगड़ा : लौट रहे प्रवासी मजदूरों से फैल रहे संक्रमण को लेकर भय का माहौल … […]

Leave a Reply

error: Content is protected !!