चक्रवाती तूफान ‘तितली’ के प्रकोप से आंध्र प्रदेश और उड़ीसा में तबाही, पश्चिम बंगाल की ओर मुड़ा तूफान

तितली का प्रकोप
Spread the love

भुवनेश्वर : चक्रवाती तूफान ‘तितली’ के प्रकोप से आंध्र प्रदेश और उड़ीसा में तबाही, पश्चिम बंगाल की ओर मुड़ा तूफान।



जानकारी के अनुसार चक्रवाती तूफान ‘तितली’ से आंध्र प्रदेश में अब तक आठ लोगों की मौत हो गई है।

वहीं इसने ओडिशा के गंजम और गजपति जिलों में भी काफी तबाही मचाई।

उड़ीसा के कई ईलाके कहर के साये में हैं।

गौरतलब है कि चक्रवाती तूफान ‘तितली’ (Cyclone Titli) गुरुवार को उड़ीसा के गोपालपुर तट से टकराया, जिसकी रफ्तार काफी तेज थी।

इतना ही नहीं ओडिशा में 145 किलोमीटर/घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं जिससे पेड़ और बिजली के खंभे तक उखड़ गए।

खतरे की आशंका को देखते हुए उड़ीसा के अलावा, आंध्र प्रदेश के उत्तरी तटीय जिलों में हाईअलर्ट जारी किया गया।

बताया जा रहा है कि अब तक तीन लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है।

तूफान (Cyclone) की रफ्तार 150 किलोमीटर प्रति घंटे तक बढ़ रही है

और उसके कारण भारी बारिश और तबाही आने की आशंका है।

PunjabKesari

उड़ीसा के समुद्र तटीय इलाक़ों मसलन गोपालपुर के तट से तितली के टकराने से मौसम काफी भयावह हो गया है

और इसकी वजह से इस पूरे क्षेत्र में भारी बारिश हो रही है।

वहीं समुद्री तूफान की चपेट में आकर मछुआरों की नाव डूब गई, इसमें पांच लोग सवार थे, सभी को सुरक्षित निकाव लिया गया है।

तितली (Cyclone Titli) के ख़तरे के मद्देनज़र ओडिशा और आंध्रप्रदेश सरकार ख़ास एहतियात बरत रही है।

गुरुवार की सुबह जब उड़ीसा के गोपालपुर तट से तितली टकराया, तो उसकी रफ्तार 145-150 किमी/घंटे थी।

वहीं, बुधवार को हवा की रफ्तार 110-120 से बढ़कर 130-140 तक देखी गई।

माना जा रहा है कि शुक्रवार तक तूफान अवदाब में बदल जाएगा।

ओडिशा और आंध्र तट पर रेड अलर्ट जारी है।

गुरुवार सुबह तितली तूफान गोपालपुर और कलिंगपतनम के बीच रहेगा।

इसके बाद दक्षिणी पश्चिम बंगाल की ओर बढ़ेगा।

हैरान करने वाली बात है कि बीते दो महीने में यह दूसरा ख़तरनाक तूफान है।

तूफान की वजह से अगले दो दिनों भारी बारिश की आशंका है।

कई कच्चे मकान भी ढह गए।

पेड़ और खंभे गिरने से बिजली की आपूर्ति बंद हो गई।

वहीं, तूफान से होने वाले हर नुकसान से निपटने के लिए प्रशासन मुस्तैद है।

साथ ही, अलग-अलग जिलों में एनडीआरएफ की 18 टीमें तैनात कर दी गई हैं।

PunjabKesari

‘तितली’ पश्चिम बंगाल की तरफ मुड़ रहा है हालांकि माना जा रहा है कि वहां पहुंचते-पहुंचते तूफान कमजोर पड़ जाएगा

और कोई भारी क्षति नहीं होगी पर जो भी होगी डर उतना ही लोगों में कम नहीं है।

हालांकि पश्चिम बंगाल में भारी बारिश की संभावना है।

उड़ीसा के भी तीन जिलों में भारी बारिश हुई।

गंजम, गजपति, खुर्दा, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक और बालासोर बेहद प्रचंड चक्रवात तितली से प्रभावित हुए।

Please follow and like us:


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.