fbpx Press "Enter" to skip to content

तिरंगे से लिपटा आया जीआरईएफ के जवान का पार्थिव शरीर

संवाददाता

 लापुंग : तिरंगे में लिपटा हुआ लापुंग के लाल का शव आज भागलपुर से यहां लाया गया।

जीआरईएफ के जवान बिगना हेरेंज का पूरे राजकीय सम्मान के साथ लापुंग के भागलपुर

में अंतिम संस्कार किया गया। पुलिस के जवानों ने उन्हें अंतिम सलामी दी। इसके पूर्व

मांडर विधानसभा क्षेत्र के विधायक बंधु तिर्की ने बिगना हेरेंज को पुष्पांजलि अर्पित किया

और भावभीनी श्रद्धांजलि दी। यह भागलपुर के ग्रामीणों के लिए सौभाग्य की बात है कि

गांव का बेटा तिरंगे में लिपटा हुआ गांव आया। हर किसी को राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा नसीब

नहीं होता। देश की रक्षा के लिए बिगना हेरेंज ने जम्मू कश्मीर में रहकर अपने कर्तव्य

शीलता का परिचय दिया और दुर्भाग्यवश ड्यूटी के दौरान लंबी बीमारी के बाद ब्रेन हेम्ब्रेज

के कारण उनका वही निधन हो गया था। उन्होंने कहा कि देश ने एक सैनिक खो दिया।

इसके पूर्व जब तिरंगे से लिपटा बिगना हेरेंज का पार्थिव शरीर गांव पहुंचा तो पूरा गांव रो

उठा। पार्थिव शरीर को श्रीनगर से अपने साथ उनके साथी और मार्गदर्शक प्रतिनिधि

जोहन आईंद लेकर भागलपुर आए थे। अपने पति के शव को देखकर उनकी धर्मपत्नी

शिलवंती सोलंकी, पुत्री सुजाता हेरेंज पुत्र सूरज हेरेंज फफक कर रो पड़े।

तिरंगे से लिपटे शव का आदिवासी रीति रिवाज से अंतिम संस्कार

सैनिक सम्मान के बाद पारंपरिक आदिवासी रीति रिवाज के तहत बिगना हेरेंज को गांव

के मसना में मिट्टी दी गई। लापुंग के बीडीओ रोहित सिंह, थाना प्रभारी जगलाल

मुंडा,एएसआई मधु सोरेंग, मुखिया जयंत बारला, मांडर विधानसभा क्षेत्र के सांसद

प्रतिनिधि राकेश भगत, लापुंग के सांसद प्रतिनिधि प्रकाश गुप्ता, विधायक प्रतिनिधि

सुदामा महली, समाजसेवी जितेंद्र नायक, नंदलाल साहू, पवन ठाकुर, चरकू साहू तथा

जवान बिगना हेरेंज की धर्मपत्नी शिलवंती सोलंकी, पुत्री सुजाता हेरेंज पुत्र सूरज हेरेंज

समेत उनके घर के सारे सदस्य और दर्जनों गणमान्य लोगों ने बिगना हेरेंज को भावभीनी

श्रद्धांजलि दी।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!