fbpx Press "Enter" to skip to content

प्रशासन ने नाबालिग की शादी रुकवायी

सिल्लीः प्रशासन ने सिल्ली प्रखंड के हजाम गांव में होने वाले एक बाल विवाह पर गुरुवार

को रोक लगा दी। बाल विवाह की सूचना मिलते ही बाल विवाह निषेध पदाधिकारी सह

बीडीओ उदयकुमार, सीडीपीओ कार्यालय की पर्यवेक्षिका किरण कुमारी झा, सीता महंत,

सिल्ली थाना के प्रभारी एसआई नारायण सोरेन, मुरी ओपी प्रभारी गुलाम रब्बानी खान

समेत पुलिस बल ने हजाम गांव में शादी के लिए किए गए तैयारियों पर रोक लगा दी।

अधिकारी व पुलिस के पहुंचते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण जमा हो गए परिजन व ग्रामीण

शादी रोकने के पक्ष में नहीं थे। अधिकारियों ने उन्हें यह समझाया कि बाल विवाह

कानूनन अपराध है। अधिकारियों के करीब घंटे भर की मशक्कत के बाद परिजन व

ग्रामीण शादी रोकने पर राजी हुए। मिली जानकारी के मुताबिक नाबालिग की शादी

घरवालों ने झालदा थाना क्षेत्र के एक युवक के साथ तय की थी गुरुवार को शाम बारात

आने वाली थी। यह भी जानकारी मिली है कि अधिकारियों को इस बाल विवाह की

जानकारी बुधवार को ही हो गई थी। आंगनबाड़ी कार्यालय एवं अधिकारियों ने लड़की के

परिजनों को बुधवार को ही शादी रोकने का आदेश दिया था।

प्रशासन ने ग्रामीणों को काफी प्रयास के बाद मनाया

बावजूद गुरुवार को भी शादी की तैयारी चल रही थी। सूचना पाकर अधिकारी व पुलिस बल

शादी रोकने पहुंचे। सीडीपीओ की पर्यवेक्षिका ने बताया कि आंगनबाड़ी के दस्तावेजों में

लड़की की जन्म तिथि 10 जून 2003 दर्ज है। इसके अलावा लड़की के परिजन लड़की के

बालिग होने के संबंध में कोई भी कागजात अधिकारियों को नहीं दिखा सके। यह भी

बताया कि लड़की ने इसी वर्ष मैट्रिक की परीक्षा दी है। लेकिन मैट्रिक के एडमिट कार्ड भी

परिजनों ने अधिकारियों को नहीं दिखाया।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!