अंतरिक्ष से कोई दे रहा है हमको आवाज ! तारा के संकेत से वैज्ञानिक उत्साहित

संकेतों के विश्लेषण से उत्साहित हैं वैज्ञानिक

Spread the love

दूसरे तारा से आ रहे ध्वनि संकेतों की गुत्थी सुलझी
प्रतिनिधि
नईदिल्लीः वैज्ञानिकों ने सुदूर अंतरिक्ष से आये ध्वनि संकेतों की गुत्थी सुलझा लेने का दावा किया है।

लेकिन वे अब भी इसकी पूरी तरह व्याख्या नहीं कर पाये हैं।

उन्हें उम्मीद है कि अनुत्तरित सवालों को भी शीघ्र ही सुलझा लिया जाएगा।

अंतरिक्ष में जीवन की तलाश वैज्ञानिकों के लिए एक रोचक विषय रहा है।

आम आदमी भी इस बारे में जानकारी रखना चाहता है।

सभी की इच्छा है कि इस दुनिया से बाहर भी कोई जीवन हो तो उसके बारे में हमलोगों को भी पता चले।

कई बार ऐसे आरोप भी लगते हैं कि बड़े देशों की सरकारें ऐसी सूचनाओं को दबा देती हैं।

पहली बार अंतरिक्ष से आये किसी संकेत के अस्तित्व को स्वीकारा गया है।

टैबी तारा की हुई है पहचान

कैप्लर टेलीस्कोप की मदद से इस पर काम कर रहे वैज्ञानिकों के एक दल ने टैबी तारा के बीच बीच में चमकने को इसी संकेत से जोड़ा है।

शोध करने वालों ने इसे ही सुलझाने का दावा किया है।

अंतरिक्ष विज्ञान में इस तारा को KIC 8462852 कहा जाता है।

इसके बारे में अनुमान है कि यह पृथ्वी से 1280 प्रकाश वर्ष की दूरी पर है।

इसके बीच बीच में चमकने का अर्थ यह लगाया जा रहा है कि उसके सामने से कुछ गुजरता है।

इस चमक को बढ़ाने को अंतरिक्ष के जीवन से जोड़कर देखा जा रहा है।

कई वैज्ञानिकों का मानना है कि अंतरिक्ष में कोई विशाल ढांचा है जिसमें जीवन है।

दूसरा तर्क भी है वैज्ञानिकों का

दूसरी तरफ एरिजोआना के ह्यूयांग मेंग विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक

यह मान रहे हैं कि यह दरअसल धूल के बादलों की वजह से हो रहा है।

इसमें अंतरिक्ष के जीवन का कोई रिश्ता नहीं है। ऐसी राय रखने वाले

यह बताते हैं कि सात सौ दिनों के परिक्रमा समयावधि में धूल के ये बादल चक्कर काट रहे है।

इसके चक्कर काटने की वजह से ही तारे के सामने से किसी रोशनी का संकेत फेंके जाने का एहसास होता है। लेकिन इस रोशनी के मध्यम होने के बारे में अब तक कोई वैज्ञानिक तथ्य सामने नहीं आया है।

लेकिन अंतरिक्ष में जीवन की तलाश में जुड़े लोगों को अब भी इस रोशनी के तेज होने और फिर मध्यम होने से जीवन संबंधी संकेत दिये जाने का आभाष हो रहा है।

इसे भी पढ़ें

वहां होती है हीरों की बारिश

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Optimization WordPress Plugins & Solutions by W3 EDGE