Press "Enter" to skip to content

अपने विमानों को लेकर तालिबान ने पड़ोसी देशों को दी चेतावनी




काबुलः अपने विमानों को लौटाने के मुद्दे पर तालिबान ने पड़ोसी देश ताजिकस्तान और उजबेकिस्तान को चेतावनी दी है। पहली बार तालिबान की तरफ से सख्त भाषा का इस्तेमाल किया गया है। दरअसल अफगानिस्तान के अनेक विमान इन दोनों देशों में फंसे पड़े हैं।




तालिबान का काबुल पर कब्जा होने के पहले ही अफगानिस्तान के सैकड़ों पायलट अपने विमान और परिवार के साथ देश छोड़कर भाग गये थे। इनलोगों ने तजाकिस्तान और उजबेकिस्तान के हवाई अड्डों पर इन विमानो को उतारा था। उसके बाद से अमेरिकी सेना द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त पायलट अमेरिकी शरण में खाड़ी इलाके के देशों के शिविरों में चले गये हैं।

अफगानिस्तान के विमान इन्हीं दो देशों के पास पड़े हुए हैं। कार्यकारी रक्षामंत्री मुल्ला मोहम्मद याकूब ने ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान से कहा है कि धैर्य की परीक्षा न लें, हम अपनी संपत्ति वापस लेकर रहेंगे। दरअसल, इन देशों के पास अफगानिस्तान से ले जाए गए 40 से ज्यादा विमान और हेलिकॉप्टर हैं।

इसी क्रम में उन्होंने धमकी देते हुए कहा, हम कमजोर हो सकते हैं लेकिन डरपोक नहीं। अफगानिस्तान के रक्षामंत्री ने कहा, मैं उनसे अनुरोध करना चाहता हूं कि वे हमारे धैर्य की परीक्षा न लें। मुजाहिद ने देश छोड़कर नहीं जाने वाले अफगानिस्तानी वायुसेना के पायलटों और इंजीनियरों को शुक्रिया कहा और जो बीते महीनों में देश छोड़कर चले गए हैं उनसे वापस लौटने की अपील की।




अपने विमानों को लेकर पड़ोस में चले गये थे पाइलट

पिछली सरकार के पतन से पहले अफगानिस्तान में 164 से अधिक सक्रिय सैन्य विमान थे, जो अब सिर्फ 81 ही बचे हैं। शेष को अफगानिस्तान से बाहर विभिन्न देशों में ले जाया गया है।

अफगानिस्तान के कार्यकारी रक्षामंत्री मोहम्मद याकूब मुजाहिद ने कहा कि वे वायुसेना को मजबूत बनाना चाहते हैं जो विदेशी आर्थिक मदद पर निर्भर न रहकर अफगानिस्तान की सीमाओं की सुरक्षा कर सके। यह पहली बार है जब तालिबान ने अपने पड़ोसियों के खिलाफ इस तरह की कठोर भाषा और चेतावनियों का इस्तेमाल किया है।

वैसे इसके बीच ही तालिबान का पाकिस्तान के साथ भी डूरंड लाइन पर बाड़ लगाने को लेकर विवाद चल रहा है। दूसरी तरफ तुर्कमेनिस्तान के साथ भी उसकी तनातनी होने के बाद सेना तैनात करने की नौबत आयी थी।



More from HomeMore posts in Home »
More from अफगानिस्तानMore posts in अफगानिस्तान »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

One Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: