fbpx Press "Enter" to skip to content

तालिबान के खुफिया विभाग का प्रमुख गिरफ्तार

काबुल: तालिबान के खुफिया विभाग के प्रमुख मुल्ला नूरुद्दीन को मंगलवार को अफगानिस्तान के गजनी प्रांत से गिरफ्तार कर लिया गया।

गजनी प्रांत के गवर्नर आरिफ नूरी ने बताया कि अफगानिस्तान के विशेष सुरक्षाबलों ने एक अभियान चलाकर मुल्ला नूरुद्दीन को प्रांत के वाघाज जिले से गिरफ्तार किया है।

आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने के कारण मुल्ला नूरुद्दीन के अलावा उसके भाई को भी गिरफ्तार किया गया है।

इस अभियान के बारे में अभी विस्तृत जानकारी उपलब्ध नहीं हो पाई है।

गौरतलब है कि अफगानिस्तान पिछले करीब दो दशकों से तालिबान के खिलाफ संघर्ष कर रहा है।

इसके अलावा वर्ष 2015 से इस्लामिक स्टेट भी अफगानिस्तान में काफी सक्रिय बना हुआ है

जिसके कारण वहां सुरक्षा संबंधी अस्थिरता बनी हुई है।

अमेरिका द्वारा तालिबान ठिकानों पर हवाई हमला शुरू करने के बाद अफगानिस्तान में तालिबान के खिलाफ यह एक प्रमुख उपलब्धि मानी जा रही है।

उल्लेखनीय है कि शांति बहाल करने के आश्वासन के बाद भी अफगानिस्तान में तालिबान द्वारा हमला किये जाने की वजह से अमेरिका ने शांति वार्ता बीच में ही छोड़ दी थी।

इस शांति वार्ता के टूट जाने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने स्पष्ट कर दिया था कि

अब वह बार बार तालिबान के इस किस्म के झांसे में नहीं आने वाले हैं।

तालिबान के साथ शांति वार्ता नहीं करेगा अमेरिका

अब तालिबान के साथ शांति वार्ता की कोई पहल भी अमेरिका द्वारा नहीं की जाएगी।

इसके उलट अफगानिस्तान में हिंसा पर उतारू आतंकवादियों के खिलाफ अमेरिका की कठोर कार्रवाई फिर से प्रारंभ कर दी जाएगी।

इसी घोषणा के बाद अमेरिकी वायुसेना ने उनके सुरक्षित ठिकानों पर हवाई हमला किया था।

इन हमलों में दो दर्जन से अधिक आतंकवादियों के मारे जाने की सूचना है।

इस बीच वहां तालिबान के चंगुल से तीन भारतीयों को मुक्त कराने के लिए

दस आतंकवादियों को रिहा किये जाने की घटना भी प्रकाश में आयी है।

वैसे इसमें कौन से भारतीय मुक्त कराये गये हैं, इस बारे में पूरी गोपनीयता बरती जा रही है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by