Press "Enter" to skip to content

दिल्ली को आक्सीजन सप्लाई पर सुप्रीम कोर्ट की केंद्र को फटकार

नई दिल्ली: दिल्ली को आक्सीजन सप्लाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को

नसीहत देते हुए कहा है कि आप हमें कड़े फैसले के लिए मजबूर न करें। दिल्ली को

प्रतिदिन 700 मीट्रिक टन आक्सीजन की सप्लाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने यह बात कही

है। दिल्ली सरकार की ओर से अदालत में कहा गया था कि उसके आदेश के बाद भी हर

दिन 700 मीट्रिक टन आक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित नहीं हो पा रही। शीर्ष अदालत ने

केंद्र सरकार को आदेश दिया है कि उसे हर दिन दिल्ली को 700 मीट्रिक टन आक्सीजन की

सप्लाई सुनिश्चित करनी होगी। कोर्ट ने कहा कि उसे यह सप्लाई तब तक जारी रखनी

होगी, जब तक कि आदेश की समीक्षा नहीं की जाती है या कोई बदलाव नहीं होता।

अदालत में केंद्र सरकार का पक्ष रख रहे सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से बेंच ने कहा,

‘हमें किसी सख्त फैसले के लिए मजबूर न करें। अपने अधिकारियों को आदेश दें कि वे हर

दिन 700 मीट्रिक टन आक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित करें।’ इससे पहले गुरुवार करो

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा था कि दिल्ली में कोरोना मरीजों की जरूरतों को पूरा

करने के लिए हर दिन 700 मीट्रिक टन आक्सीजन सप्लाई सुनिश्चित करनी चाहिए।

अदालत ने कहा था, ‘यदि कुछ भी छिपाने के लिए नहीं है तो फिर सरकार आगे आकर देश

को यह बताना चाहिए कि किस तरह से केंद्र सरकार की ओर से आक्सीजन का आवंटन

किया जा रहा है।’

दिल्ली के लिए 700 मीट्रिक टन आक्सीजन की सप्लाई की मांग की है

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से हर दिन राजधानी के लिए 700

मीट्रिक टन आक्सीजन की सप्लाई की मांग की है। उनका कहना है कि यदि दिल्ली को

प्रतिदिन 700 मीट्रिक टन आक्सीजन मिलती है तो वह सुनिश्चित करेंगे कि राजधानी में

किसी मरीज की आक्सीजन की कमी के चलते मौत न हो। अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार

को कहा, ‘यदि हमें आक्सीजन की पर्याप्त सप्लाई मिलती है तो फिर हम दिल्ली में 9,000

से 9,500 बेड की व्यवस्था कर पाएंगे। हम आक्सीजन बेड तैयार कर सकेंगे। मैं आप लोगों

को भरोसा दिलाता हूं कि 700 मीट्रिक टन सप्लाई होने पर दिल्ली में आक्सीजन की कमी

से किसी की मौत नहीं हो सकेगी।’

Spread the love
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!