fbpx Press "Enter" to skip to content

उच्चतम न्यायालय में 39वें दिन भी अयोध्या मामले की सुनवाई जारी




  • अयोध्या में अनेक मस्जिद मुसलमान कहीं भी नमाज पढ़ सकते हैं: हिन्दू पक्ष

नयी दिल्लीः उच्चतम न्यायालय में अयोध्या विवाद की आज 39वें दिन की सुनवाई के दौरान

हिंदू पक्ष ने कहा कि अयोध्या में 50 से 60 मस्जिद हैं तथा मुस्लिम कहीं और भी जाकर नमाज

पढ़ सकते हैं।

उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति

डी वाई चंद्रचूड़, न्यायमूर्ति अशोक भूषण तथा न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर की संविधान

पीठ के समक्ष हिन्दू पक्ष के वकील के परासरण ने दलील दी कि अयोध्या में 50-60 मस्जिद

हैं और नमाज कहीं भी अदा की जा सकती है, लेकिन यह राम का जन्मस्थान है,

इसे बदला नहीं जा सकता।

श्री परासरण ने अपनी दलील में कहा कि किसी को भी भारत के इतिहास को तबाह करने की

अनुमति नहीं दी जा सकती है। न्यायालय को इतिहास की गलती को ठीक करना चाहिए।

एक विदेशी भारत में आकर अपने कानून लागू नहीं कर सकता है।

उन्होंने अपनी दलील की शुरुआत भारत के इतिहास के साथ की। न्यायालय के निर्देश के बाद

वकील वी.पी. शर्मा ने लिखित दलील के साथ कुरान के अंग्रेजी अनुवाद की कॉपी रजिस्ट्री को

सौंपी। इसके साथ ही हिंदूऔर सिख धर्म ग्रंथ भी रजिस्ट्री को सौंपे जाएंगे।

हिंदूपक्षकार की ओर से वकील ने मंदिर के सबूत के तौर पर कुछ दस्तावेज संविधान पीठ को देने

की गुजारिश की है। अदालत की ओर से दस्तावेज रजिस्ट्री को देने को कहा गया है।

हिंदूपक्षकार महंत रामचंद्र दास के शिष्य सुरेश दास की ओर से वकील श्री परासरण अपनी दलीलें

दे रहे हैं। हिंदूपक्ष की ओर से निर्मोही अखाड़ा बुधवार को अपनी दलील रखेगा। निर्मोही अखाड़े के

वकील सुशील जैन की मां की मृत्यु हो जाने के कारण वह अदालत नहीं पहुंच सके।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अदालतMore posts in अदालत »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from धर्मMore posts in धर्म »

One Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: