fbpx Press "Enter" to skip to content

रिम्स के सुपरस्पेशलिटी ट्रामा सेंटर को कोरोना सेंटर के रूप में किया डेवेलप

रांची : रिम्स के सुपरस्पेशलिटी ट्रामा सेंटर को कोरोना सेंटर के रूप में डेवेलप किया गया

है। इसी सेंटर में कोरोना से जुड़े संदिग्ध मरीजों के अलावा पॉजिटिव मरीजों को भी भर्ती

किया गया है। झारखंड का पहला कोरोना पॉजिटिव मरीज, मलेशिया की युवती भी इसी

सेंटर में भर्ती है। सुरक्षा घेरा के बीच इस सेंटर के अंदर तमाम गतिविधियां संचालित हो

रही है। झारखंड की राजधानी रांची में पहला पॉजिटिव मरीज सामने आया है। हालांकि यह

मरीज झारखंड का रहने वाला नहीं है। यह मलेशिया से रांची के हिंदपीढ़ी में एक धार्मिक

प्रचार में शामिल होने पहुंची थी। वहीं, मलेशिया से आई युवती में कोरोना वायरस

पॉजिटिव पाया गया है। मरीज को रिम्स के सुपरस्पेशलिटी ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया

गया है। गौरतलब है कि विभाग द्वारा रिम्स के ट्रामा सेंटर को कोरोना सेंटर के रूप में

डेवलप किया गया है। बता दें कि कोरोना से जुड़ी हर गतिविधियों ट्रामा सेंटर से नजर

बनाए रखा है। इससे जुड़े तमाम समस्याएं इसी ट्रामा सेंटर से निपटाया जा रहा है।

प्रारंभिक जांच रिपोर्ट के अलावा माइक्रोबायोलॉजी विभाग के साथ इस सेंटर को जोड़ा गया

है। स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा अपने स्तर पर हर संभव व्यवस्था इस कोरोना सेंटर

में मुहैया कराई गई है। जानकारी के अनुसार लालू प्रसाद यादव के पेइंग वार्ड के ठीक

सामने है ट्रामा सेंटर। गौरतलब है कि जिस ट्रामा सेंटर बिल्डिंग को कोरोना सेंटर के रूप में

डेवलप किया गया है। उस सेंटर के ठीक सामने पेइंग वार्ड है और इसी वार्ड में बिहार के पूर्व

मुख्यमंत्री और चारा घोटाला के मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद इलाज के लिए भर्ती है।

प्रत्येक शनिवार को लालू प्रसाद से मुलाकात करने लोग आते थे। लेकिन एहतिहातन

फिलहाल इसकी इजाजत किसी को भी नहीं है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat