fbpx Press "Enter" to skip to content

सुबोधकांत ने दोनों नेताओं के निधन पर शोक व्यक्त किया

  • समाजवादी विचारधारा के जननेता थे रघुवंश प्रसाद सिंह

  • सामाजिक सरोकारों के लिए समर्पित थे छत्रपति मुंडा 

रांचीः सुबोधकांत ने अपने दो अलग अलग बयानों में दो प्रमुख नेताओं के निधन पर शोक

व्यक्त किया है। बिहार के जाने-माने कद्दावर राजनेता डॉ.रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर

पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने शोक जताया है। उन्होंने शोक संवेदना में कहा है कि

डॉ. सिंह समाजवादी विचारधारा के पक्षधर एक प्रखर जननेता थे। बिहार की राजनीति में

उन्होंने विशिष्ट पहचान स्थापित की थी। विधानसभा से लेकर संसद तक गरीबों, पीड़ितों

और आम जनों की समस्याओं के समाधान के लिए वह सदैव मुखर रहा करते थे। किसी

भी विषय और जनमुद्दों पर वह बेबाक बोलने वाले नेता थे। श्री सहाय ने कहा कि उनके

अकस्मात निधन से बिहार की संसदीय राजनीति में शून्यता आ गई है। जिसकी भरपाई

निकट भविष्य में संभव नहीं है। उन्होंने स्व. सिंह की आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से

प्रार्थना करते हुए उनके परिजनों को संबल प्रदान करने की कामना की।

सुबोध कांत ने पूर्व विधायक को भी इसी क्रम में याद किया

पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने बिहार विधान परिषद के सम्मानित सदस्य रहे

छत्रपति शाही मुंडा के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने अपनी शोक संवेदना में

कहा है कि स्वर्गीय मुंडा का संपूर्ण जीवन सामाजिक सरोकारों के प्रति समर्पित रहा।

उन्होंने आदिवासी समाज की सांस्कृतिक, सामाजिक और आर्थिक विकास के लिए कई

उल्लेखनीय कार्य किए। आदिवासी हितों के संरक्षण के लिए सतत संघर्षशील रहे।

झारखंडी समाज को शिक्षित और प्रशिक्षित करने में भी उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही। श्री

सहाय ने कहा कि पूर्णत: देहाती परिवेश में पले- बढ़े स्व. मुंडा की एक प्रखर वक्ता के रूप

में भी पहचान थी। विभिन्न मुद्दों पर बेबाकी से अपनी बातों को रखना उनकी विशेषता

रही। श्री सहाय ने कहा कि एक लंबे समय से उनका सानिध्य मिलता रहा, जो आज

अकस्मात बिछड़ गया। उन्होंने कहा कि झारखंडी समाज के नेताओं में स्वर्गीय मुंडा जैसे

व्यक्तित्व विरले ही मिलते हैं। उनका अकस्मात निधन मर्माहत करने वाला है। श्री सहाय

ने दिवंगत की आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की और इस दुख की घड़ी में उनके

परिजनों को संबल प्रदान करने की कामना की


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from नेताMore posts in नेता »
More from बयानMore posts in बयान »
More from बिहारMore posts in बिहार »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!