Press "Enter" to skip to content

पीएफ की चोरी पर लगेगा लगाम, कंपनियों को भरना पड़ेगा वक़्त पर पीएफ




नई दिल्ली : पीएफ की चोरी पर सरकार कड़ा रुख अपनाते हुए कई नई व्यवस्थाओं को लागू कर रही है।

जिनमें सरकार अपनी पैनी नज़र कई प्राइवेट कंपनियों व ठेकेदारों पर लगा रखी है।

कई जमा शिकायतें पर सरकार सख्त हो गयी है जहां कर्मचारियों के पीएफ रकम उनके खाते में डालने में देरी की जा रही है

या कई बार डाला भी नहीं जा रहा है और कंपनी या ठेकेदार सारे पैसे का गबन कर जा रहे है।

बता दें कि इन अनसुलझे मसलों को देखते हुए कर्मचारी भविष्य निधि संगठन

यानी ईपीएफओ ने एक नई केंद्रीयकृत व्यवस्था तैयार की है।

जिसके बाद हर माह रकम खाते में न जमा होने पर कंपनी

और कर्मचारी दोनों को एसएमएस भेजकर अलर्ट किया जाएगा।

पीएफ पर ब्याज रहेगा बरकरार-

कंपनी द्वारा पीएफ देर से जमा करना कंपनी पर बढ़ेगा बोझ।

जिसके तहत कंपनी अगर पीएफ जमा करने में जितना वक़्त लगाएगी।

कंपनी को सशुल्क पूरे रकम के साथ-साथ ब्याज भी भरना पड़ेगा।

वहीं सूत्रों कि माने तो अगर कंपनी ने तीसरे महीने भी पीएफ नहीं जमा किया तो लिखित में इसकी शिकायत की जाएगी।

साथ ही इन शिकायतों पर दो रिमाइंडरों के बाद सख्ती से जांच के कदम उठाए जाएंगे।

देरी पर छापेमारी पुख्ता सबूतों के अनुसार-

दरअसल भविष्य निधि की नई व्यवस्था के अनुसार पीएफ जमा में देरी पर कार्यवाई पुख्ता सबूतों के अनुसार ही किए जाएँगे।

जहां निरीक्षक खुद जाकर कंपनी या किसी ठेकेदार से इन मामलों पर जांच के कदम उठाएंगे

जहां लगातार तीन महीने तक देरी की गई हो या फिर पीएफ की रकम खाते में न जमा की गई हो।

जिसपर कड़े कार्यवाई करने के पहले पुख्ता सबूत, आधार व प्रमाण होना आवश्यक है।

साथ ही छापेमारी के पहले वरिष्ठ अफसरों की मंजूरी जरूरी है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
More from Hindi NewsMore posts in Hindi News »

Be First to Comment

Leave a Reply