fbpx Press "Enter" to skip to content

सृजन घोटाले में आखिरकार पूर्व डीएम वीरेंद्र यादव पर चार्जशीट

  • घोटाले में शामिल कई अफसरों से मधुर तालुकात रहे सुर्खियों में

  • घोटाले की जांच में सीबीआई की गति उम्मीद से काफी धीमी

  • कई प्रमुख लोगों के घोटाले में शामिल होने की चर्चा काफी पहले से

दीपक नौरंगी

भागलपुर: सृजन घोटाले में आखिरकार सीबीआई ने आखिरकार सबसे बड़ी कार्रवाई की है

पूर्व जिला अधिकारी विरेंद्र यादव पर सीबीआई ने चार्जशीट कर दी है।सुशासन सरकार ने

बहुत पहले ही कह दिया था कि सृजन घोटाले में जो भी लोग हैं वह नहीं बचेंगे उन पर

कार्रवाई होगी बिहार के मुख्यमंत्री सीबीआई का बयान सच होता दिख रहा है। क्योंकि

आने वाले दिनों में विधानसभा चुनाव मैं कुछ महीनों का ही अंतर है। सुशासन सरकार के

मुखिया नीतीश कुमार वैसे अधिकारियों को बचाना नहीं जाएंगे जिन पर उनकी साख पर

किसी प्रकार का धब्बा आरोप लगे इसलिए सृजन घोटाले मैं जितने भी प्रशासनिक

अधिकारी और पुलिस अफसर करवाई का रास्ता साफ है। नहीं तो यह सच है कहीं ना कहीं

सृजल घोटाले में सीबीआई राजनीतिक दबाव में तो काम नहीं कर रही थी इसको लेकर

कई बार सवाल उठ चुके थे पूर्व डीएम वीरेंद्र यादव शुरू से ही जांच के दायरे में दिख रहे थे

धीरे-धीरे सीबीआई ने अपना कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है। सीबीआई को ऐसे कई

साक्ष्य मिले थे जिससे साबित हो रहा था कि वीरेंद्र यादव ने सृजन के घोटालेबाजों के साथ

मिलकर मोटी कमाई की. सीबीआई ने उनकी संपत्ति की जांच में भी कई गडबड़िया पकड़ी

थी. इसके बाद उनके खिलाफ जांच का दायरा बढाया गया और सीबीआई ने उन्हें

अभियुक्त बनाते हुए चार्जशीट दायर कर दी है। सूत्रों पर विश्वास करें तो अभी भी एक

आईएएस अधिकारी और एक आईपीएस अधिकारी पर और चार्जशीट की पूरी संभावना

बनती दिख रही है। कलिंगा के मालिक एनवी राजू पर चार्जशीट कर दी है और भी कई

लोगों पर चार्ज शीट की है।

सृजन घोटाले पर सबसे पहले राष्ट्रीय खबर ने छापी थी यह रिपोर्ट

लेकिन राष्ट्रीय खबर ने कलिंगा के मालिक एनवी राजू की सृजन घोटाले में क्या भूमिका

रही थी इस मामले मैं लगातार प्रमुखता से खबर प्रकाशित की थी इसके बाद शहर में लोग

कई तरह की बातें आपस में करने लगे थे लेकिन सच्चाई सभी के सामने आ गई और

एनवी राजू सहित विपिन कुमार, सृजन की मैनेजर सरिता झा, सचिव रजनी प्रिया,

संचालिका स्वर्गीय मनोरमा देवी के पुत्र अमित कुमार, उप विकास आयुक्त के नाजिर

अरुण कुमार, अमरेंद्र यादव के अलावा और कई लोगों पर सीबीआई ने चार्जशीट की है।

सृजन घोटाले ढाई साल के बाद कुछ नए लोगों पर सीबीआई ने चार्जशीट की है। आने वाले

समय में यह तय माना जा रहा है कि अब कई आईएएस और आईपीएस अधिकारियों पर

भी चार्जशीट की संभावना बनती दिख रही है।

आईपीएस ने कलिंगा के मालिक को मदद के लिए किया था फोन

सृजन घोटाले का खुलासा होने के बाद जब जिला पुलिस की एसआईटी टीम ने कलिंगा के

मालिक एनबी राजू के शोरूम पर छापामारी की उस समय के वर्तमान एसपी को एक

आईपीएस अधिकारी ने फोन करके कहा कलिंगा का मालिक राजू मेरा करीबी मित्र है।

उसके बाद भागलपुर जिला से लेकर पुलिस मुख्यालय तक उक्त आईपीएस अधिकारी का

नाम काफी सुर्खियों में आया। लेकिन कहावत है सामर्थ को ना कोई दोष गोसाई क्योंकि

बिहार सरकार के कई सीनियर आईएएस और आईपीएस अधिकारी इस बात को अच्छी

तरीके से जानते हैं कलिंगा के मालिक एनबी राजू से किन-किन आईएएस और आईपीएस

अधिकारियों के नजदीक और मधुर तालुकात है। राष्ट्रीय खबर में प्रकाशित खबर सच हुई

है। पिछले सातवें महीने में लिखा गया था कि 2 आईएएस अधिकारी पर कार्रवाई होगी सर

एक आईएएस अधिकारी विरेंद्र यादव पर सीबीआई ने आज फाईल कर दी है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

3 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!