fbpx Press "Enter" to skip to content

पिठौरिया इलाके में नकली शराब की फैक्ट्री का भंडाफोड़

  • मुख्य सरगना राहुल शर्मा गिरफ्तार

  • महंगी गाड़ियों से ढोयी जाती थी शराब

  • झारखंड के बाहर भी होती थी आपूर्ति

  • शराब के साथ लक्जरी गाड़ियां भी जब्त

संवाददाता

रांचीः पिठौरिया इलाके में नकली शराब बनाने वाली एक फैक्ट्री का भंडाफोड़ हुआ है। इस

क्रम में पुलिस द्वारा की गयी कार्रवाई के क्रम में नकली शराब के साथ साथ छह बड़ी

गाड़ियां भी जब्त कर ली गयी है। छापामारी में वहां से पंद्रह से अधिक विदेशी ब्रांड के

नकली शराब जब्त किया गया है।

पुलिस द्वारा दी गयी जानकारी के मुताबिक एसएसपी के इस जाली धंधे के बारे में गुप्त

सूचना मिली थी। उसी सूचना के आधार पर ग्रामीण एसपी के नेतृत्व में एक विशेष दल का

गठन किया गया था। इसी छापामार दल ने पिठौरिया इलाके के ओयना गांव में छापा मारा

था। छापामारी के दौरान वहां मौजूद सामान से ही यह साबित हो गया कि यहां विदेशी ब्रांड

के शराब के नकली उत्पादन का कारोबार चल रहा था। विदेशी ब्रांड के शराब की बोतलों के

अलावा रैपर, कार्क और बोतलों की सीलबंद करने के यंत्र भी वहां बरामद किये गये हैं।

पुलिस के मुताबिक इस नकली शराब के कारोबार के मुख्य सरगना बालमुकुंद कुमार

निराला उर्फ राहुल शर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया है। वह मुख्य तौर पर टाटीसिलवे का

रहने वाला है। उसके अलावा इस धंधे में शामिल जहानाबाद के बिट्टू कुमार, पुरुलिया के

तापस मंडल और निताई बनर्जी तथा रांची के सदर थाना निवासी गौतम कुमार को

गिरफ्तार किया गया है।

पिठौरिया की इस छापामारी में शामिल थे कई पुलिस अधिकारी

पुलिस का दावा है कि यहां से जब्त लक्जरी गाड़ियों से ही नकली शराब की खेप पहुंचायी

जाती थी। इस गिरोह के द्वारा झारखंड के अलावा बिहार और पश्चिम बंगाल में भी इस

नकली शराब की खेप पहुंचायी जाती थी। वहां से जो गाड़ियां जब्त हुई है, उनका इस्तेमाल

इसी कारोबार में किया जाता था। लक्जरी गाड़ी होने की वजह से लोगों को इस किस्म के

नकली शराब के कारोबार का शक भी नहीं होता था। इस छापामारी में ग्रामीण पुलिस

अधीक्षक नौशाद आलम के अलावा सिल्ली के डीएसपी चंद्रशेखर आजाद, ओरमांझी के

थाना प्रभारी श्याम किशोर महतो, कांके के थाना प्रभारी विजय कुमार सिंह, पिठौरिया के

थाना प्रभारी विनोद राम, मेसरा ओपी के प्रभारी वीरेंद्र कुमार, हुटूप के ओपी प्रभारी

जमादार मुंडा, सब इंस्पेक्टर जयप्रकाश दास, कामेश्वर उरांव, संजय दास और सदानंद के

अलावा पुलिस दल के सदस्य और उत्पाद विभाग के लोग शामिल थे।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पश्चिम बंगालMore posts in पश्चिम बंगाल »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

Be First to Comment

Leave a Reply