सपा-कांग्रेस झोंक रही है जनता की आखों में धूल : मायावती

लखनऊ : बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती ने कहा है कि पहले चरण के मतदान के दिन समाजवादी पार्टी (सपा) -कांग्रेस ने ‘साझा कार्यक्रम’ घोषित करके उत्तर प्रदेश की लगभग 22 करोड़ जनता की आंखों में धूल झोंकनें की कोशिश की है । सुश्री मायावती ने आज यहां जारी बयान में कहा कि पाँच वर्षाें तक सर्वसमाज की अनदेखी करते हुये केवल “एक परिवार, एक क्षेत्र विशेष”में ही उलझे रहने वाली प्रदेश की मौजूदा सपा सरकार के मुखिया के दोगले चाल, चरित्र, चेहरे को प्रदेश की जनता अच्छी तरह समझ चुकी है।



उन्होने कहा कि दोनों पार्टियो ने अलग-अलग घोषणा-पत्र जारी करने के बावजूद फिर से सपा व कांग्रेस द्वारा ‘साझा कार्यक्रम ‘घोषित कर प्रदेश की जनता के आखों में धूल झोकने की कोशिश की है। इनमें से ज्यादातर घोषणों में बसपा सरकार की नकल की गयी है । सुश्री मायावती ने कहा कि ‘महामाया गरीब आर्थिक मदद योजना’व सावित्रीबाई फूले बालिका शिक्षा मदद योजना जिसके तहत छात्राओं को 15 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि व स्कूल जाने के लिये साइकिल की व्यवस्था की गयी थी। 11वीं पास करने पर उन्हें दस हजार रुपये अतिरिक्त देने की व्यवस्था को सन् 2009-10 में ही लागू करके लाखों बालिकाओं को हर वर्ष लाभान्वित करना शुरू कर दिया गया था।

साथ ही एक लाख 10 हजार गांवो में सफाईकर्मी के सरकारी पद स्वीकृत करके उन पर बहाली की गई। उन्होने कहा कि सरकारी क्षेत्रों में लगी भर्ती पर से रोक को हटाकर सर्वसमाज के युवाओं व बेरोजगारों को स्थायी नौकरी दी गयी। असंगठित क्षेत्र में भी रोजगार के लाखों अवसर पैदा करके पलायन को पूरी तरह रोका गया था। छात्रवृत्तियों को बढ़ाकर उन्हें लाभार्थियों के खातें में सीधे देने की व्यवस्था लागू करके भ्रष्टाचार को रोकने का काम किया गया।

बसपा अध्यक्ष ने कहा कि महामाया गरीब बालिका आशीर्वाद योजना के माध्यम से लड़कियों को 18 वर्ष की होने पर एक लाख रुपये देने की योजना लागू की गयी । शहरी गरीब आवास योजना, सर्वजन हिताय गरीब आवास मालिकाना हक योजना, महामाया सर्वजन आवास योजना व शहरी दलित बस्ती समग्र विकास योजना के माध्यम से लाखों परिवारों को आवास व पक्का मकान उपलब्ध कराने की व्यवस्था सुनिश्चित करायी गयी। सुश्री मायावती ने कहा कि सपा, कांग्रेस और भाजपा जनहित की जो भी घोषणायें या वायदे कर रहे हैं उनमें से ज्यादातर बसपा की नकल हैं।

मौजूदा सपा सरकार ने अपने कार्यकाल में जातिवादी व राजनीतिक द्वेष की मानसिकता के कारण बसपा सरकार द्वारा लागू की गयी जनहित योजनाओं को सत्ता में आते ही या तो उन्हें बन्द कर दिया या फिर उनका नाम बदल दिया । उन्होने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता अब भाजपा की चुनावी वादाखिलाफी के साथ-साथ सपा व कांग्रेस पार्टी की हवा-हवाई व खोखली बातों में कतई भी विश्वास करने वाली नहीं है। बसपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश की जनता अराजकता का जंगलराज को समाप्त करके सूबे में ‘कानून द्वारा कानून का राज’ देखना चाहती है । राज्य विधानसभा आमचुनाव के प्रथम चरण के मतदान का दिन ‘साझा कार्यक्रम’ घोषित करना एक नाटकबाजी के सिवाय कुछ नही है ।



Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.