fbpx Press "Enter" to skip to content

निर्धारित गति से तेज है मॉनसून के बादलों का आगे बढ़ना

  • मालदीव से आगे केरल तट की तरफ आ रहा 

तिरुअनंतपुरमः निर्धारित गति से तेज दक्षिण पश्चिमी मॉनसून अगले दो दिनों  में केरल

के तट तक पहुंच सकता है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग द्वारा जो सूचनाएं दी गयी थी

उससे इस मॉनसून की गति अभी तेज है। वैसे मॉनसून की प्रगति के देखते हुए केरल के

मछुआरों को पहले से ही सतर्क कर दिया गया है। यह चेतावनी दी गयी है कि वे अगले 48

घंटे तक समुद्र में ना जाएं। समझा जाता है कि बंगाल की खाड़ी में बने दबाव के क्षेत्र की

वजह से मॉनसून के बारिश वाले बादल तेज गति से आगे बढ़ गये हैं। मौसम विज्ञान

विभाग ने इसके मालदीव के पास होने और 1 जून को अंडमान निकोबर के क्षेत्र में पहुंचने

की उम्मीद जतायी थी।

निर्धारित गति से तेज गूगल अर्थ से दिख रहे बादल

 गूगल अर्थ से दिख रहे बादल वर्तमान में इससे आगे निकल चुके हैं। आम तौर पर

मॉनसून के आने का यही वक्त होता है। औसत रिकार्ड के मुताबिक केरल के

तट पर यह पांच जून के आस-पास पहुंचता है। इस बार भी तेजी से आगे बढ़ने के बाद भी

दक्षिणी भारत के राज्यों में इसका प्रभाव उसी आस पास देखने को मिल सकता है। मौसम

वैज्ञानिक यह भी देख रहे हैं कि अरब महासागर में भी निम्न दबाव का क्षेत्र समुद्र में बना

है। इससे उस तरफ से भी बादल दक्षिणी भारती इलाकों तक पहुंच रहे हैं। दोनों बादलों के

मिलने के बाद मॉनसून की प्रारंभिक बारिश उम्मीद से कहीं अधिक हो सकती है।

देश में मॉनसून के बारे में मौसम वैज्ञानिक पहले से ही यह जता चुके हैं कि इस बार भी

देश में सामान्य मॉनसून होने की ही उम्मीद है। लेकिन प्रारंभिक अवस्था में इसका असर

काफी अधिक होने की भी आशंका जतायी गयी है। दक्षिण भारत के कुछ इलाकों में

प्रारंभिक चरण में घनघोर बारिश होने की आशंका है। इसी वजह से पहले से ही मछुआरों

को समुद्र से दूर रहने को कहा गया है। जो मछली मारने वाली नौकाएं समुद्र में हैं, उन्हें भी

रेडियो संदेश भेजकर तुरंत लौट आने को कहा जा रहा है। केरल में इस बार मॉनसून को

लेकर अधिक सावधानी बरती जा रही है क्योंकि पिछले वर्ष इसी दौरान भीषण वर्षा और

भूस्खलन की घटनाओं में एक सौ से अधिक लोग मारे गये थे। लगभग सभी बांधों का

पानी ऊपर आने की वजह से राज्य के अनेक इलाकों में बाढ़ की स्थिति बनी थी और लाखों

लोगों को सुरक्षित इलाकों तक हटाना पड़ा था।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

  1. […] निर्धारित गति से तेज है मॉनसून के बादल… मालदीव से आगे केरल तट की तरफ आ रहा  तिरुअनंतपुरमः निर्धारित गति से तेज दक्षिण … […]

Leave a Reply

error: Content is protected !!