Press "Enter" to skip to content

दक्षिण अफ्रीका के विशेषज्ञों ने ओमीक्रॉन पर नई जानकारी दी




ओमीक्रॉन वायरस ही निष्क्रिय कर रहा है डेल्टा को
अभी सर्वेक्षण के आंकड़े बहुत कम ही मिल पाये हैं
अफ्रीका हेल्थ रिसर्च इंस्टिट्यूट ने किया है काम

केप टाउनः दक्षिण अफ्रीका में मिले ओमीक्रॉन कोरोना वायरस के बारे में नई जानकारी दी गयी है। यहां के विशेषज्ञों के मुताबिक यह ओमीक्रॉन ही खतरनाक डेल्टा वेरियंस की ताकत को क्षीण कर रहा है। अनुमान है कि धीरे धीरे यह पूरे डेल्टा वेरियंट को ही अपनी बदौलत खत्म कर देगा।




ओमीक्रॉन वायरस के संपर्क में आने वालों की प्रतिरोधक क्षमता इतनी विकसित हो रही है कि वह डेल्टा वेरियंट के खिलाफ असरदार साबित होगी। अफ्रीका हेल्थ रिसर्च इंस्टिट्यूट के खादिजा खान की अगुवाई में वैज्ञानिकों ने तमाम आंकड़ों का विश्लेषण कर लेने के बाद यह उम्मीद जतायी है।

ओमीक्रॉन के बारे में भी बताया गया है कि इससे पीड़ित रोगी को कम परेशानियां होती हैं। दूसरी तरफ अमेरिका तथा यूरोप में कहर मचाने वाले डेल्टा में लोगों की परेशानियां अत्यधिक बढ़ती हैं और अधिकांश लोगों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ता है।

शोध दल ने 13 मरीजों के आंकड़ों का परीक्षण किया है। इनमें से 11 लोग ओमीक्रॉन से पीड़ित थे। सात को वैक्सिन लगे थे जबकि तीन लोगों को वैक्सिन के दोनों डोज लग चुके थे। इनलोगों के शरीर में मौजूद एंटीबॉडी का परीक्षण किया गया है।




दक्षिण अफ्रीका के रोगियों की जांच की गयी है

इससे पाया गया कि डेल्टा के खिलाफ शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बहुत अधिक बढ़ी हुई है। दो सप्ताह में ही डेल्टा वेरियंट को रोकने लायक प्रतिरोधक शक्ति इस ओमीक्रॉन वायरस के संक्रमण की वजह से विकसित हो चुकी थी।

वैसे वैज्ञानिकों ने दो सप्ताह के इस सर्वेक्षण के क्रम में यह स्पष्ट कर दिया है कि शरीर में यह एंटीबॉडी ओमीक्रॉन की वजह से थी अथवा कोरोना वैक्सिन की वजह से,इसकी जांच करने में अभी समय लगने जा रहा है। यह भी पाया गया कि शरीर में ऐसी एंटीबॉडी का विकास हो चुका है जो ओमीक्रॉन के दोबारा संक्रमण को भी रोकने में सक्षम है।

दक्षिण अफ्रीका से मिली इस रिपोर्ट के आधार पर दुनिया के अन्य हिस्सों में भी इस बात की जांच प्रारंभ हो चुकी है कि क्या प्रकृति ने अपने तरीके से ओमीक्रॉन को विकसित कर डेल्टा वेरियंट को रोकने का एक प्राकृतिक तरीका ईजाद तो नहीं कर दिया है।



More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »

3 Comments

Leave a Reply

%d bloggers like this: