fbpx Press "Enter" to skip to content

सोनई गांव में निजी जमीन पर अतिक्रमणकारियों ने लाल झंडा लगा किया कब्जा

  • अतिक्रमित भूमि को बताया सरकारी जमीन

  • भूमि मालिकों ने पदाधिकारियों से लगाई सुरक्षा की गुहार

  • अतिक्रमणकारी व भूमि मालिकों के बीच भारी तनाव का माहौल

हरलाखी, मधुबनी : सोनई गांव की करीब 54 एकड़ निजी जमीन को सरकारी जमीन

कहकर कुछ लोगों के द्वारा कब्जा किये जाने का मामला सामने आया है। जिसको लेकर

सोनई गांव में अतिक्रमणकारियों व भूमि मालिको के बीच तनाव का माहौल कायम है।

सूचना पर पहुंची पुलिस भी बैरंग वापस लौट गई। मिली जानकारी के अनुसार शनिवार की

शाम अचानक कुछ लोगों के द्वारा सोनई व सेमहली मुख्य पथ के किनारे श्याम नारायण

शुक्ल, किशोरी शरण शुक्ल, सीताशरण शुक्ल, रजनीश कुमार झा के आमबगान वाले

जमीन पर कब्जा करना शुरू किया। जहां अतिक्रमणकारियों ने करीब 54 बीघा जमीन पर

झोपड़ी, बांस बल्ले से बेरिकेटिंग व लाल झंडा लगाकर कब्जा कर लिया। जिसके बाद

जमीन मालिकों ने पहुंचकर अतिक्रमण का विरोध किया। जिसे अतिक्रमणकारियों ने

खदेड़ कर भगा दिया और जबरन कब्जा कर लिया। भूमि मालिकों ने मामले की लिखित

जानकारी थानाध्यक्ष व सीओ को दी। जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस को

अतिक्रमणकारियों ने सरकारी जमीन कहकर बैरंग वापस लौटा दिया। जानकारी देते हुए

जमीन मालिकों ने बताया कि उक्त जमीन हम सभी को जमींदार स्व। छोटे प्रसाद की पुत्री

किरण शाही से केबाला में प्राप्त है। जिसका सभी कागजात व साक्ष्य है। बावजूद

राजनीतिक साजिश के तहत कुछ लोगों के द्वारा जमीन पर अवैध कब्जा किया गया है।

कब्जा कर रहे लोगों का जब विरोध किया तो लोग कुदाल, खंती, लाठी डंडे व अन्य

हथियार के साथ हमलोगों पर हमला करने की कोशिश किया। जिसके बाद हमलोग अपनी

जान बचाकर वापस घर आ गए। भूमि मालिकों ने यह भी बताया कि हमारे जान माल की

क्षति किसी भी वक्त पहुंचाई जा सकती है।

सोनई गांव की जमीन पर प्रशासन ने कहा जांच जारी है

प्रशासन तनिक भी पहल नही कर रही है। जिसको लेकर हमलोगों ने आवेदन

जिलाधिकारी से लेकर अंचल व पुलिस को दिया है। हम प्रशासन से सुरक्षा की गुहार

लगाते है। हालांकि अतिक्रमणकारियों ने पत्रकारों को कुछ भी बताने से साफ इंकार क़र

दिया। इस बावत सीओ सौरव कुमार ने कहा कि स्थल का मुआयना किया गया है। जमीन

मालिकों से कागजात की मांग की गई है। कागजात जांच के उपरांत अग्रिम कार्रवाई की

जायेगी। वही थानाध्यक्ष अंजेश कुमार ने कहा स्थिति नियंत्रण में है। कागजात जांच के

बाद जमीन को खाली करवा लिया जायेगा।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: