fbpx Press "Enter" to skip to content

दिव्यांगजनों की सहायता करने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओ को नहीं दिया जा रहा है पास




रांची : दिव्यांगजनों की सहायता करने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओ को पास नहीं मिल

रहा है। जबकि इस संदर्भ में कोरोना लॉकडाउन के मद्देनजर केंद्र सरकार की ओर से कई

दिशा-निर्देश भी राज्यों को जारी किये गये। लॉकडाउन का सख्ती से पालन तो किया जा

रहा है, लेकिन कुछ ऐसे मुद्दे हैं जिसमें दिशा-निदेर्शों पालन नहीं हो पा रहा है। दिव्यांगजन

मुख्य आयुक्त कार्यालय की ओर से परेशानी और समाधान के संबध में दिशा निर्देश जारी

किया गया। जिसमें दिव्यांगजनों और इनकी सहायता करने वाले सामाजिक कार्यकतार्ओं

को पास देने का निर्देश दिया गया। लेकिन राज्य में इसका पालन नहीं किया जा रहा।

रामगढ़, जमशेदपुर जैसे जिलों को छोड़ कर अन्य जिलों में सामाजिक कार्यकतार्ओं को

जिला प्रशासन की ओर से मिलने वाले पास में परेशानी हो रही है। जबकि केंद्रीय कार्यालय

की ओर से निर्देश दिया गया था कि दिव्यांगजनों को किसी तरह की परेशानी न हो इसका

जिला प्रशासन ध्यान रखें। पर यह कई हद तक अब भी नाकामयाब साबित हुआ है।

दिव्यांगजनों में बच्चों और वृद्धों पर करना है फोकस

मुख्य आयुक्त कार्यालय की ओर से दिव्यांग बच्चों और वृद्धों पर फोकस करने का निर्देश

है। इसके लिये नोडल पदाधिकारी राज्य निशक्तता आयुक्त है। दिव्यांगजनों के लिए

काम कर रहे सामाजिक कार्यकतार्ओं से जानकारी हुई कि अलग-अलग कार्य के लिए पास

जारी किये जा रहे हैं। किसी को खाना बांटने, किसी को पानी या दवाई आदि के लिए। साथ

ही क्षेत्र भी निर्धारित किया गया है। जिससे कोई भी सामाजिक कार्यकर्ता एक निश्चित

क्षेत्र के बाहर नहीं जा सकें। लॉकडाउन के कारण देश भर में हो रही दिव्यांगजनों की

परेशानी को देखते हुए 31 मार्च को दिव्यांगजन मुख्य आयुक्त कार्यालय की ओर से दिशा

निर्देश जारी किया गया। जिसमें इन निदेर्शों के पालन की बात की गयी।

आयुक्त ने लिखा सभी उपायुक्तों को पत्र

राज्य निशक्तता आयुक्त की ओर से इस संबध में सभी उपायुक्तों को पत्र लिखा गया।

जिसमें दिव्यांगजन मुख्य आयुक्त कार्यालय की ओर से जारी दिशा निदेर्शों के पालन की

बात की गयी है। इस पत्र में कहा गया है कि भारत सरकार दिव्यांगजन सशक्तिकरण

विभाग की ओर से इस क्षेत्र में कार्य कर रहे सामाजिक कार्यकतार्ओं को पास दिया जाना

है। जिससे मुख्य फोकस बच्चों और वृद्धजनों पर करना है।ऐसे में पास नियमित रूप से

जारी किया जायें। बात करते हुए मुख्य निशक्तता आयुक्त ने कहा की कुछ जिलों में पास

दिये गये है। लेकिन कुछ जिलों में पिछले कुछ दिनों से पास नहीं मिलने की शिकायत आ

रही है। ऐसे में दिव्यांगजनों की परेशानी को देखते हुए यह निर्देश दिया गया है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from पूर्वी सिंहभूमMore posts in पूर्वी सिंहभूम »
More from भोजनMore posts in भोजन »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »
More from रामगढ़More posts in रामगढ़ »

One Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: