fbpx Press "Enter" to skip to content

शिवराज सिंह चौहान ने गोपाल भार्गव का बयान पर सफाई दी

इंदौरः शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के बयान

पर सफाई दी है। दरअसल एक जनसभा में श्री भार्गव ने बातों ही बातों मे यह

कह दिया था कि अगली बार भाजपा की सरकार बनी तो शिवराज सिंह चौहान

ही राज्य के मुख्यमंत्री होंगे।

इसी बयान पर भाजपा के अंदर भी राजनीति गरमा गयी है। इस मुद्दे पर

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मध्यप्रदेश के पूर्व

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विधानसभा में विपक्ष के नेता गोपाल

भार्गव के बयान पर आज कहा कि श्री भार्गव ने जनभावनाओं के अनुरूप

बयान दिया है।

श्री चौहान ने यहां रेसीडेंसी कोठी पर संवाददाताओं के द्वारा पूछे जाने पर

कहा कि श्री भार्गव ने बयान देकर कोई गलती नही की है। वहां (झाबुआ)

उपचुनाव में प्रचार के दौरान जनता मामा मामा पुकार रही थी, जिस पर

श्री भार्गव ने जन भावनाओ के अनुरूप कहा कि दिवाली के बाद मध्यप्रदेश

में भाजपा की सरकार बनेगी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बनेंगे।

श्री चौहान ने यहां ये भी कहा कि वे नैतिक व्यक्ति हैं उनके मन मे किसी पद

की महत्वकांक्षा नही है, यदि मुख्यमंत्री बनना चाहता तो चुनाव के बाद ही

जोड़-तोड़ कर लेता।

उन्होंने कहा कि उनका काम प्रदेश की सवा सात करोड़ जनता के लिए काम

कर उनके दिल मे राज करना है।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा किसी पद की लालसा नहीं

श्री भार्गव ने झाबुआ उपचुनाव प्रचार के दौरान कल एक सभा को संबोधित

करते हुये कहा था कि दिवाली के बाद प्रदेश में भाजपा की सरकार बनेगी

और पुन: श्री चौहान की मुख्यमंत्री के पद पर ताजपोशी होगी।

इस पर राजनीति गरमाने की वजह से अपने बयान के कुछ देर बाद ही कल

श्री भार्गव ने अपने बयान को महज चुनावी भाषण बताते हुए सफाई दी थी।

उन्होंने कहा था कि राज्य में सरकार बनाने का निर्णय आलाकमान करता है।

वे ऐसे किसी निर्णय को लेने के अधिकारी नही।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply