विवाहित प्रेमी से अनबन के बाद भटककर महिला पहुंची कुजू

विवाहित प्रेमी से अनबन के बाद भटककर महिला पहुंची कुजू

कुजूः विवाहित प्रेमी से अनबन होने के बाद मानसिक तौर पर कमजोर एक महिला को

एक पत्रकार ने रात भर अपने घर में शरण दी। कोरोना काल में रांची जिले के ओरमांझी से

भटककर कुजू पहुँची एक महिला को रात भर अपने घर में आशियाना देकर रांची से

प्रकाशित एक दैनिक समाचार पत्र के पत्रकार ने मानवता की मिसाल पेश की। पत्रकार

द्वारा किए गए कार्यशैली पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी सहित आम जनता ने

सराहना करते हुए कहा कि ऐसे लोग समाज के लिए एक मिसाल हैं। जो संकट के बीच रात

भर किसी अंजान की सेवा कर एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। बताया जाता है कि

तथाकथित एक विवाहित प्रेमी जो पुलिस कर्मी भी है के प्रेम जाल में फंस कर शुक्रवार को

रांची जिले के ओरमांझी थाना की मानसिक रूप से अवसादग्रस्त एक महिला बबिता

कुमारी भटकते हुए कुजू पहुंची थी। जिसको रात भर स्थानीय पत्रकार दिलीप कुमार और

उनके लोगों द्वारा आशियाना देकर उसकी सेवा की। जो लोगों के बीच चर्चा का विषय बना

हुआ है। ओरमांझी थाना क्षेत्र के हेसातू गांव के कानटू उरांव की 31 वर्षीय पुत्री बबीता

कुमारी अपने प्रेमी राजू लकड़ा से अनबन के कारण भटक कर कुजू आ गई थी। दिनभर

कुजू रेलवे स्टेशन के निकट भटकती रही। जहां देर शाम रेलवे स्टेशन के साइडिंग में

कार्यरत कुछ लोगों द्वारा महिला से अभद्र व्यवहार किए जाने पर भागती हुई, पास में ही

रहने वाले पत्रकार दिलीप कुमार के आवास पहुंचकर उसने मदद की गुहार लगाई। इस

दौरान महिला द्वारा अपने आप को अनाथ बताते हुए अपना नाम बालूमाथ लातेहार

निवासी रेखा कुमारी बताया गया। पत्रकार द्वारा इसकी सूचना कुजू पुलिस को दी गई।

कुजू ओपी के पुलिस पदाधिकारी सीएस पिंगुआ अपने दल बल के साथ मौके पर पहुंचे।

विवाहित प्रेमी की प्रेमिका असंलग्न बात चीत कर रही थी

जहां रात्रि होने के कारण पुलिस पदाधिकारी ने पत्रकार को कुजू ओपी में महिला आरक्षी

नहीं होने का हवाला देते हुए रात भर उक्त महिला को अपने ही आवास में रखने का

निवेदन किया। जिसके बाद पत्रकार द्वारा उक्त महिला को भोजन कराकर अपने आवास

में ही रखा। जहां रात भर महिला द्वारा पत्रकार और उनके परिजनों को रात भर परेशान

किया और इधर उधर की बातें कर घूमाती रही। बाद में सुबह होने पर रामगढ़ एसडीपीओ

किशोर कुमार रजक के पहल पर कुजू ओपी के अवर निरीक्षक सुरेंद्र सिंह कुंतिया द्वारा

महिला को अपने साथ कुजु ओपी ले जाया गया। जहां महिला ने आपबीती बताते हुए

अपना नाम बबिता कुमारी ओरमांझी निवासी बताते हुए सारी जानकारियां दी। जिसके

बाद पुलिस ने ओरमांझी थाना की मदद लेते हुए महिला के परिजनों को बुलाया तथा

महिला को उसके पिता एवं गांव के सरपंच को सुपुर्द कर दिया गया। महिला शारीरिक एवं

मानसिक रूप से अवसादग्रस्त बताई जाती है।

Spread the love

Rkhabar

... ... ...
error: Content is protected !!
Exit mobile version