fbpx Press "Enter" to skip to content

आयकर विभाग ने चीनी के हवाला रैकेट का भंडाफोड़ किया

  • चीनी हवाला रैकेट से जुड़ा मणिपुर तीन करोड़ की रोज निकाली

  • फर्जी पासपोर्ट के इस्तेमाल के लिए भारतीय लड़की से भी कर ली थी शादी
भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी : आयकर विभाग ने मंगलवार को भारत में हवाला नेटवर्क का इस्तेमाल करने

वाली चीनी कंपनियों के एक बड़े गठजोड़ का भंडाफोड़ किया। दिलचस्प बात यह है कि इन

रैकेटों को कथित तौर पर मणिपुर कनेक्शन मिला है क्योंकि मणिपुर से फर्जी पासपोर्ट

जारी किए गए हैं।आयकर विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुवाहाटी में आज

मीडियाकर्मियों से कहा कि चीन के नागरिक द्वारा भारत में रहकर चलाए जा रहे हवाला

कारोबार को लेकर कई खुलासे हो रहे हैं। आयकर विभाग की पूछताछ में पता लगा है कि

लोउ सांग भारत में अपनी पहचान बदलकर रह रहा था। इतना ही नहीं मणिपुर की एक

लड़की से भी शादी कर चुका है। मंगलवार को ही आयकर विभाग की टीम ने छापेमारी कर

करीब 1000 करोड़ रुपये के हवाला कारोबार का भांडा फोड़ दिया हैं। फर्जी पासपोर्ट के

इस्तेमाल के लिए मणिपुर की लड़की से की शादी थी ।संदिग्ध लोउ सांग, अपनी पहचान

बदल कर भारत में रह रहा था। वह चार्ली पैंग बन गया था हवाला के जरिए लोउ हर रोज

तीन करोड़ रुपये निकालता था, इसमें उसकी मदद बंधन बैंक और आई सी आई सी आई

बैंक के अधिकारी करते थे। चीनी संदिग्ध के पास करीब 40 बैंक अकाउंट हैं।

आयकर विभाग इससे जुडे अन्य तथ्यो की जांच मे जुटा

उन्होंने कहा कि आयकर विभाग विश्वसनीय जानकारी के आधार पर कि कुछ चीनी

व्यक्ति और उनके भारतीय सहयोगी मनी लॉन्ड्रिंग और हवाला लेनदेन में शेल संस्थाओं

की श्रृंखला के माध्यम से शामिल थे, इन चीनी संस्थाओं के विभिन्न परिसरों में एक खोज

कार्रवाई शुरू की गई थी, उनके करीबी संघ और बैंक कर्मचारियों की एक जोड़ी और 300

करोड़ रुपये के हवाला संचालन में नकली चीनी कंपनियों का प्रतिनिधित्व कर रहा था।

इसके अलावा, हवाला लेनदेन और “बैंक कर्मचारियों और चार्टर्ड एकाउंटेंटों की सक्रिय

भागीदारी” के साथ मनी लॉन्ड्रिंग से संबंधित दस्तावेज भी सामने आए हैं। अधिक

जानकारी के लिए जांच चल रही है, उन्होंने कहा।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from असमMore posts in असम »
More from घोटालाMore posts in घोटाला »
More from चीनMore posts in चीन »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

Be First to Comment

Leave a Reply