Press "Enter" to skip to content

शार्कों के झूंड ने एक तैराक पर फिर किया हमला, आदमी लापता




सिडनीः शार्कों के हमले ऑस्ट्रेलिया के समुद्री तटों पर अचानक से बढ़ने लगे हैं। इस बार एक लापता तैराक की खोज में गये बचाव दल पर ही शार्कों के झूंड ने हमला कर दिया था।




पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया से यह खतरनाक सूचना आयी है। इसमें बताया गया है कि एक बोट पर सवार दो बच्चे ने एक व्यक्ति पर शार्क का हमला होने की सूचना सबसे पहले आकर दी।

पर्थ के करीब नार्थ फ्रेमेंटल में पोर्ट बीच के पास से यह सूचना आने के बाद बचाव दल भी उन बच्चों की तलाश में समुद्र में गया था

साथ ही बचाव दल ने वहां के समुद्री इलाके में तैर रहे अन्य लोगों को भी सर्तक कर उन्हे पानी से बाहर भेजा। इसके बीच राहत और आपातकाली सेवा को भी सूचना दी गयी थी।

बचाव दल समुद्री पानी में खोज कर ही रहा था कि अचानक से शार्कों के झूंड ने इस बचाव दल पर भी हमला कर दिया।

वे जिस पानी के जहाज पर सवार होकर वहां गये थे, वहां से शार्कों का यह आचरण भी देखा गया, जिसमें वे झूंड बनाकर हमला मुद्रा में तैर रहे थे। दूसरी तरफ यहां की पुलिस ने शार्के के हमले में कितने शार्के थे, इसकी पुष्टि नहीं की है।

दूसरी तरफ वहां के पुलिस इंस्पेक्टर ट्रोय डगलस के मुताबिक प्रत्यक्षदर्शियों की बात को सही मानें तो हमले में एक ह्वाईट शार्क और एक टाइगर शार्क देखा गया था।




घटना के वक्त वहां मौजूद सुजेटे हार्डिंग ने कहा कि वह खुद समुद्र में उतरने ही वाली थी कि एक अन्य महिला ने उन्हें रोक दिया।

शार्कों के झूंड की वजह से समुद्री तट बंद किये गये

उसी महिला ने पास समुद्र में शार्कों को तैरते देखने की बात कही। उस बात के एक मिनट के अंदर ही नाव पर सवार दो बच्चों ने शार्कों का हमला होने की शोर मचा दी।

बच्चों ने भी सबसे पहले सभी को पानी से बाहर निकलने की चेतावनी दी। जिस व्यक्ति के इस हमले में लापता होने का अनुमान है, वह 57 वर्षीय था और यहां के समुद्री तट पर हर रोज आया था।

वैसे बचाव दल आगे भी इस तलाशी अभियान को जारी रखना चाहते हैं लेकिन अब वे काफी सावधानी के साथ इसे करने की योजना बना रहे हैं।

इस घटना के बाद वहां से समुद्री तट को अस्थायी तौर पर बंद कर दिया है। एहतियात के तौर पर वहां पांच अतिरिक्त पुलिस नौकाएं गश्त दे रही हैं।

साथ ही आसमान से हेलीकॉप्टर से भी लोग शार्कों की गतिविधियों पर नजर रखे हुए हैं। याद दिला दें कि इससे पूर्व गत पांच सितंबर को भी न्यू साउथ वेल्स के पूर्वी समुद्री छोर पर ऐसा ही जानलेवा शार्कों का हमला हो चुका है।



More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »
More from समुद्र विज्ञानMore posts in समुद्र विज्ञान »

One Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: