fbpx Press "Enter" to skip to content

शरद पूर्णिमा की रात से देखिये प्रेम के अमर स्मृति ताजमहल को




आगरा: शरद पूर्णिमा की रात से ताजमहल के दीदार का इंतजार देश दुनियां के पर्यटकों को हमेशा रहता है

और यह इंतजार अब खत्म हो रहा है ।

पर्यटक शनिवार से लगातार रात में चार दिन चमकते ताज का दीदार कर सकेंगे।

शरद पूर्णिमा 13 अक्तूबर को है । उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद साल 2004 से शरद पूर्णिमा के दो दिन

पहले से दो दिन बाद तक रात में ताजमहल को देखने के लिये खोला जाता है ।

पूरे साल में यही पांच दिन होता है जब ताज को दर्शकों के लिये रात को भी खोला जाता है ।

इन पांच रातों में जब चन्द्रमा की रोशनी ताज पर पड़ती है तो वो नजारा अदभुत होता है ।

सिर्फ शुक्रवार जुम्मे की रात को ताज को दर्शकों के लिये नहीं खोला जाता ।

इस बार शरद पूर्णिमा के पहले दो दिन का पहला दिन शुक्रवार यानि आज है।

लिहाजा आज रात यह नहीं खुलेगा । इसके लिये टिकटों की बिक्री भी आज से शुरू हो गई है।

शरद पूर्णिमा के मौके पर यह प्रथा पहले से चली आ रही है

इस रात से ताजमहल को चांद की रोशनी में देखने का आनंद कुछ और ही होता है।

इस वजह से देश विदेश के पर्यटक भी इसी मौके पर यहां खास तौर पर आते हैं।

दूसरी तरफ आम तौर पर इस ताजमहल से दूरी बनाकर चलने वाले स्थानीय लोग भी

खास इसी रात को ताजमहल की सुंदरता का आनंद उठाने जाते हैं।

दरअसल चांद की इस खास रोशनी में इस वक्त ताजमहल को देखने का अनुभव कुछ और ही होता है।

इसी वजह से टूर ऑपरेटर्स भी पर्यटकों को खास तौर पर इस रात वहां मौजूद होने की सलाह दिया करते हैं।

लगातार चर्चा में बने रहने की वजह से शरद पूर्णिमा की रात ताजमहल को देखना एक प्रथा सी बन गयी है,

जो काफी लोकप्रिय भी हो चुका है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from उत्तरप्रदेशMore posts in उत्तरप्रदेश »
More from कला एवं मनोरंजनMore posts in कला एवं मनोरंजन »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पर्यटन और यात्राMore posts in पर्यटन और यात्रा »

One Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: