Press "Enter" to skip to content

सेंसर वाली घंटी ने महिला और नवजात की बचायी जान




फ्लोरिडाः सेंसर वाली घंटी की वजह से अपने नवजात शिशु के साथ बिस्तर पर सोयी महिला को यह पता चल गया कि दरवाजे के बाहर कुछ गतिविधियां हैं।




इस एप के जरिए जब महिला ने दरवाजे पर लगे कैमरे की जांच की तो हथियारबंद लोग नजर आये।

महिला ने जब दरवाजे के करीब जाकर उनसे जानकारी मांगी तो वे जानकारी देने के बदले दरवाजा तोड़कर अंदर आने की धमकी देने लगे।

इस बीच यह सारी घटना कैमरे में रिकार्ड भी होती चली गयी। अपने पालतू कुत्ते को जब तक वह महिला बांध पाती, यह हथियारबंद लोग दरवाजा तोड़कर अंदर चले आये।

सभी ने किसी व्यक्ति की तलाश शुरु कर दी और लगातार महिला को यह धमकी भी देते रहे कि उन्होंने एक व्यक्ति को घर के अंदर छिपा रखा है।

घर में दरअसल महिला के अलावा सिर्फ उनका नवजात बच्चा ही था। जिसे वह अपनी गोद में लेकर मामला समझने की कोशिश कर रही थी।

घर की तलाशी में कोई और नहीं मिलने के बाद वे सारे लोग घर से चले गये। वैसे इस दौरान सेंसर वाली घंटी और कैमरे ने जो कुछ रिकार्ड किया, उससे साफ हो गया कि वे दरअसल अमेरिकी मार्शल थे और किसी अपराधी की तलाश करते हुए शायद गलत पते पर आ गये थे।




वैसे बिना वारंट के किसी घर में इस तरीके से घुसने के मसले पर अब सामाजिक बहस प्रारंभ हो गयी है।

चूंकि सेंसर वाली घंटी के एप की वजह से यह घटना एप उपलब्ध कराने वाले सर्वर में भी रिकार्ड है। इसलिए महिला के घर में घुस आने वाले हथियारबंद अमेरिकी मार्शलों की पहचान कोई कठिन कार्य नहीं है।

सेंसर वाली घंटी में एक छोटा कैमरा भी लगा हुआ है और वह हर गतिविधि को उसके मालिक एवं एप उपलब्ध कराने वाली कंपनी तक सीधे प्रसारित करता है।

सेंसर वाली इस घंटी का कैमरा की साफ रिकार्डिंग

इस घटना में पीड़ित महिला ने अपने आतंक का वर्णन किया है। वह कहती है कि घर के अंदर चारों तरफ से हथियारबंद लोगों ने घेर रखा था और वे बार बार गोली चलाने की धमकी भी दे रहे थे।

कैमरे में दरवाजे से निकलते हुए अमेरिकी मार्शलों और रोती हुई महिला को भी देखा गया है। जिसके बाद ही सामाजिक स्तर पर पुलिस वालों के इस आचरण पर कड़ी कार्रवाई की मांग उठने लगी है।

सेंसर लगी घंटी के कैमरे ने पूरे घटनाक्रम को इतना साफ रिकार्ड किया है कि इसमें नजर आने वाले चेहरे भी इस घटना से इंकार करने की स्थिति में नहीं है।

अब इस गलत कार्रवाई के लिए जिम्मेदार पुलिस वालों के खिलाफ कठिन कानूनी कार्रवाई की मांग होने लगी है।



More from HomeMore posts in Home »
More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from प्रोद्योगिकीMore posts in प्रोद्योगिकी »
More from महिलाMore posts in महिला »
More from यू एस एMore posts in यू एस ए »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.