fbpx Press "Enter" to skip to content

नामांकन के दूसरे दिन भी भागलपुर में गहमागहमी

  • पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष समता पार्टी की टिकट पर

  • कांग्रेस के अजीत शर्मा जुलूस की शक्ल में पहुंचे

  • रानी चौबे ने भी समर्थकों के साथ परचा भरा

  • सृजन घोटाले पर धनंजय कुमार की राय

दीपक नौरंगी

भागलपुरः नामांकन के दूसरे दिन भी भागलपुर में राजनीतिक गहमागहमी का माहौल

रहा। अलग अलग प्रत्याशियों ने अपने समर्थकों के साथ आकर अपना अपना परचा

दाखिल किया। इस कारण वहां राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं के साथ साथ चुनावी

त्योहार का आनंद उठाने वाले भी लगातार जमे रहे।

वीडियो में देखिये आज के दिन भर की चुनावी हलचल

आज नामांकन के दूसरे दिन भी अपने समर्थकों के साथ आने वाले नेताओं ने अपने अपने

तरीके से शक्ति प्रदर्शन भी किया और उपस्थित लोगों को अपनी चुनावी तैयारियों की

झलक दिखलायी।

नामांकन में सबसे चर्चित नाम निश्चित तौर पर कांग्रेस के प्रत्याशी अजीत चौबे का रहा।

वह पिछले दो बार से यहां से चुनाव जीतते आ रहे हैं। लेकिन इस बार उन्हें अपनी ही पार्टी

के पूर्व जिलाध्यक्ष शाह अली सज्जाद का मुकाबला करना पड़ेगा। उन्हें जिलाध्यक्ष पद से

हटाये जाने के बाद से ही चर्चा का माहौल गर्म था कि वह चुनाव लड़ने जा रहे हैं। आज

उन्होंने भी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी की तरफ से अपना नामांकन दाखिल कर दिया है।

इस दौरान उनसे इन सभी मुद्दो पर चर्चा भी हुई और उन्होंने अपनी तरफ से सारे

घटनाक्रमों का विवरण प्रस्तुत किया। लेकिन इस बीच वह यह भी बता गये कि कांग्रेस की

स्थानीय राजनीति के तहत ही उन्हें हटाया गया, इसमें राष्ट्रीय नेताओं की कोई भूमिका

नहीं रही। अली सज्जाद ने कहा कि वह अच्छे लेकिन बिखरे हुए लोगों को एकजुट करना

चाहते हैं। इसी वजह से वह रालोसपा के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं।

नामांकन के दूसरे दिन निर्दलीय प्रत्याशी अंजनी कुमार से भी चर्चा हुई। वह कोरोना काल

में स्कूल में बंदी होने के बाद भी अभिभावकों से फीस की मांग का विरोध कर रहे हैं।

उन्होंने इस पर विस्तार से बात रखने के अलावा कहा कि वह सृजन घोटाले की वर्तमान

सीबीआई जांच से कतई संतुष्ट नहीं है। इसमें ब तक सिर्फ लोगों की आंखों में धूल झोंकने

के लिए छोटे मोटे लोगों को फंसाया गया है। इस घोटाला के असली गुनाहगार बचे हुए हैं।

इसलिए वह चाहते हैं कि उच्च न्यायालय के एक जज की देखरेख में इस सृजन घोटाले की

जांच हो और असली गुनाहगारो को दंड मिले।

नामांकन के दूसरे दिन अजीत शर्मा और रानी चौबे भी पहुंचे

नामांकर भरने आयी पप्पू यादव की प्रत्याशी रानी चौबे ने भी अपने समर्थकों के साथ

अच्छा प्रदर्शन किया और अपनी दावेदारी के संबंध में उन्हीं बातों को दोहराया जो वह

अपने पूर्व के साक्षात्कार मे बता चुकी हैं।

नामांकन के दूसरे दिन निवर्तमान विधायक अजीत शर्मा भी अपने समर्थकों के साथ ही

आये। उन्होंने साफ कहा कि जनता को यह अच्छी तरह पता है कि दो बार के विधायक का

उनका कार्यकाल कैसा रहा है। जनता यह अच्छी तरह जानती है कि विधायक अजीत शर्मा

किसी काम का कमिशन नहीं लेता है और ईमानदारी से काम करता है। साथ ही श्री शर्मा ने

कहा कि इस बार बिहार में यूपीए की सरकार बनने जा रही है। इसलिए विपक्ष में होते हुए

भागलपुर के जो काम वह नहीं करा पाये थे, उन्हें पूरा करने पर उनका ध्यान रहेगा। इसमें

भोला पुल, हवाई सेवा के अलावा स्मार्ट सिटी की परियोजनाएं हैं। साथ ही वह इलाके में

औद्योगिक विकास के जरिए युवाओं को रोजगार देने तथा यहां की स्वास्थ्य सेवा को और

बेहतर बनाने की दिशा में काम करेंगे

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from चुनावMore posts in चुनाव »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बिहार विधानसभा चुनाव 2020More posts in बिहार विधानसभा चुनाव 2020 »
More from भागलपुरMore posts in भागलपुर »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

3 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!