fbpx Press "Enter" to skip to content

कोरोना आपदा में घटे ब्लड, सात हजार यूनिट ब्लड बैंक में किए गए जमा

रांची : कोरोना आपदा में राज्य में ब्लड की जरूरत आन पड़ी थी और ब्लड बैंक पूरी तरह

खाली हो चुका था। जिसकी स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि

राज्य में लॉकडाउन के दौरान कुल सात हजार यूनिट ब्लड जमा किया गया है। उन्होंने

बताया कि राज्य में चार चलंत रक्तदान वैन का पहले से ही परिचालन किया जा रहा है,

जो रांची, पलामू, हजारीबाग और देवघर में है जबकि वर्तमान स्थिति को देखते हुए

रामगढ़ और जामताड़ा में दो नए ब्लड बैंक की शुरुआत की गयी है। उन्होंने लोगों से

अपील की है कि राज्य के तमाम युवाओं और रक्तदाताओं से अनुरोध है कि ज्यादा से

ज्यादा मात्रा में रक्तदान करें, ताकि इस विषम परिस्थिति में रक्त की कमी न हो पाए। वे

आज रांची में दो चलंत रक्तदान वैन के शुभारंभ समारोह को संबोधित कर रहे थे।

कोरोना के कारण नहीं हो रहे थे ब्लड डोनेशन

लॉकडाउन में राज्य में रक्त की कमी न हो इसके लिए स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने

मंगलवार को ब्लड डोनेशन वैन का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि

राज्य में अभी रक्त की कमी नहीं है। विभिन्न ब्लड बैंकों में 7000 ब्लड यूनिट उपलब्ध हैं।

उन्होंने बताया कि रांची, हजारीबाग, पलामू तथा देवघर में इस तरह के वैन संचालित किए

जा रहे हैं। वहीं, रामगढ़ तथा जामताड़ा में नए ब्लड बैंक की स्वीकृति प्रदान की गई है।

मालूम हो केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने भी राज्य सरकार को पत्र लिखकर ज्यादा से

ज्यादा रक्तदान कराने का अनुरोध किया है ताकि अस्पतालों में रक्त की कमी न हो।

अस्पतालों की ओपीडी सेवा प्रभावित

लॉकडाउन को लेकर राजधानी के अस्पतालों की ओपीडी सेवा प्रभावित है। मरीजों की

समस्या और सुविधा को देखते हुए निजी अस्पतालों ने फोन पर चिकित्सकीय परामर्श

देने का निर्णय लिया है। ऐसा पहली बार हो रहा है जब एक साथ कई अस्पतालों ने

चिकित्सकीय परामर्श फोन पर देने की सेवा शुरू की है। एसोसिएशन ऑफ हेल्थकेयर

प्रोवाइडर्स इंडिया ने पूरे देश भर में लगभग सभी प्राइवेट अस्पतालों एवं सरकार के बीच

समन्वय स्थापित कर इस नई व्यवस्था को शुरू किया है। इसी दिशा में प्रदेश के मरीजों

को विशेष सुविधा के लिए अस्पतालों का नंबर जारी किया है। एएचपीआइ की झारखंड

इकाई के अध्यक्ष जोगेश गंभीर (राज अस्पताल) और सचिव डॉ राजेश (रानी चिल्ड्रेन

अस्पताल) द्वारा इसकी जानकारी दी गयी है। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के कारण

शहर में सरकारी एवं प्राइवेट सारे ओपीडी बंद हैं सिर्फ आपात इलाज ही की जा रही है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कामMore posts in काम »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from नेताMore posts in नेता »
More from बयानMore posts in बयान »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!