एनपीए का बोझ कम हुआ तो मुनाफे में लौटा एसबीआई

एनपीए का बोझ कम हुआ तो मुनाफे में लौटा एसबीआई
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मुम्बई: एनपीए का बोझ कम होने से भारतीय स्टेट बैंक 30 सितंबर को समाप्त चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में मुनाफे में लौट आया है।

बैंक को चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 4,056.23 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था

जबकि दूसरी तिमाही में उसने 751.58 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ अर्जित किया है।

हालांकि, गत वित्त वर्ष की समान तिमाही में अर्जित 1,952.30 करोड़ के शुद्ध लाभ के तुलना मेंं

आलोच्य तिमाही में उसका मुनाफा 61.50 प्रतिशत घट गया है।

बैंक द्वारा आज जारी तिमाही वित्तीय परिणाम के आंकड़ों के मुताबिक आलोच्य तिमाही में

एकल आधार पर एसका शुद्ध एनपीए 5.43 प्रतिशत से घटकर 4.84 प्रतिशत रह गया।

इस अवधि में समग्र आधार पर उसकी प्रोविजनिंग गत वित्त वर्ष की

दूसरी तिमाही के 16,842.18 करोड़ रुपये से घटकर 10,381.31 करोड़ रुपये रह गयी।

पिछली तिमाही में उसने 13,214.95 करोड़ रुपये की प्रोविजनिंग की थी।

बैंक की कुल आमदनी 74,948.51 करोड़ रुपये से बढ़कर 79,302.72 करोड़ रुपये हो गयी है।

एसबीआइ का कुल खर्च 59,234.93 करोड़ रुपये से बढ़कर 65,548.37 करोड़ रुपये हो गया है।

बैंक की कुल परिसंपत्ति भी इस अवधि में 33,84,015.35 करोड़ रुपये से बढ़कर 36,70,180.89 करोड़ रुपये हो गयी है।

एऩपीए से अलग भारतीय रुपया 67 पैसे लुढ़का

दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं के बास्केट में डॉलर की मजूबती और घरेलू शेयर बाजार के लुढ़कने से

अंतरबैंकिंग मुद्रा बाजार में भारतीय मुद्रा लगातार दो दिन की तेजी खोती हुई

सोमवार को 67 पैसे टूटकर 73.12 रुपये प्रति डॉलर पर आ गयी।

भारतीय मुद्रा बीते कारोबारी दिवस एक रुपये की तेजी में 72. 45 रुपये प्रति डॉलर पर रही थी।

गत दो दिनों में रुपया डेढ़ रुपये मजबूत हुआ था।

डॉलर की मजबूती से आज शुरूआत से ही रुपये पर दबाव रहा।

यह 31 पैसे की गिरावट के साथ 72.76 रुपये प्रति डॉलर पर खुला और यही इसका दिवस का उच्चतम स्तर रहा।

ईरान पर अमेरिका के प्रतिबंध के रविवार से लागू होने के बाद लंदन का ब्रेंट क्रूड वायदा 30 सेंट लुढ़ककर 72.53 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया।

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों के पूंजी बाजार में 55.84 करोड़ डॉलर के निवेश से भी रुपये को बल मिला

लेकिन डॉलर की मजबूती और शेयर बाजार की गिरावट के दबाव में

भारतीय मुद्रा कारोबार के दौरान 73.13 रुपये प्रति डॉलर के दिवस के निचले स्तर तक आ गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.