fbpx Press "Enter" to skip to content

कोयल नदी के घाटों से खुलेआम बालू की तस्करी

  • हर दिन रांची भेजी जा रही है बड़ी गाड़ियां

  • बड़े वाहनों का हो रहा है धड़ल्ले से इस्तेमाल

  • जिम्मेदार एजेंसियों को हैं इसकी पूरी जानकारी

  • जांच के लिए टीम भेजी डॉ रामेश्वर ऊरांव ने वहां

बसंत गुप्ता

गुमलाः कोयल नदी के घाटों से बालू की तस्करी जोरों पर है। इस काम में क्या कुछ

गड़बड़ी हो रही है, इस बारे में सभी संबंधित सरकारी विभागों को जानकारी है। लेकिन

उनकी चुप्पी का असली राज क्या है, यह बात अब तक बाहर नहीं आयी है। ओलमुंडा के

कोयल नदी के घाटों से बालू के अवैध उठाव में दर्जनों ट्रक एवं हाईवा लगे हुए हैं। इन बड़े

वाहनों से इस अवैध बालू की सप्लाई रांची तक नियमित हो रही है ।

वीडियो में देखिये कैसे संचालित हो रहा है यह धंधा

ओलमुंडा के पशिचम में डोंगा घाट कोयल तट पर बालु का अवैध उठाव हो रहा है। इस

कार्रवाई से वहां के ग्रामीण आक्रोशित है। ग्रामीण की शिकायत पर मंत्री डॉ रामेश्वर उराँव

के निर्देश पर कांग्रेस पार्टी के सिसई विधानसभा क्षेत्र के युवा अध्यक्ष गंगा ऊरांव ने क्षेत्र

का दौरा किया। उन्होंने बालू घाट का खुद निरीक्षण कर वहां की वास्तविकता से एसपी को

अवगत कराया है। गंगा ऊरांव ने एसपी से अविलंब जांच कराकर अवैध बालू उठाव बंद

कराने की मांग की है। श्री ऊरांव को ग्रामीणों ने बताया कि रात्रि में गाड़ी की आवागमन से

(नींद)सोना हराम हो जाता है। अवैध बालू उठाव बंद नहीं होने पर ग्रामीण बाध्य हो कर

आंदोलन के मूड में है। ग्रामीणों ने बताया कि प्रत्येक दिन दर्जनों हाईवा एवं ट्रक से बालू

की ढुलाई हो रही है। इससे सरकार को लाखों रुपए के राजस्व की क्षति हो रही है।

कोयल नदी के अवैध कारोबार से ग्रामीण हो रहे परेशान

वहीं बालू माफिया की चांदी है। कांग्रेस पार्टी के नेता गंगा ऊरांव ने कहा है कि बालू के

अवैध कारोबार की जानकारी प्रशासन तथा पुलिस को भी है लेकिन प्रशासनिक संरक्षण में

बालू का अवैध कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है। इसे रोक पाने में सिसई पुलिस प्रशासन

नाकाम साबित हो रही है। ओलमुंडा पंचायत के तीन नदी घाट से बालू के आवाज उठाओ

तथा डंपिंग का कार्य क्षेत्र में चल रहा है। यहां प्रत्येक दिन दर्जनों ट्रक एवं हाईवा बालू उठाव

के लिए आ रही है। 

इस पंचायत के किसी भी नदी घाट में बालू के बिक्री के लिए टेंडर नहीं हुआ है। फिर भी क्षेत्र

के बालू माफिया एवं कुछ राजनीतिक दलों के कर्ता-धर्ता इस कार्य को अंजाम देने में जुटे

हुए हैं। उन्होंने स्थानीय सांसद विधायकों पर भी बालू के अवैध उठाव पर किसी प्रकार की

प्रतिक्रिया जाहिर नहीं किए जाने पर चिंता जाहिर की है ।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!