fbpx Press "Enter" to skip to content

लॉकडाउन में तंबाकू की कालाबाजारी शुरू, 5 रुपये की चीज़ 25 से 30 रुपये में बिक रही

रांची : लॉकडाउन में राज्य में कल मुख्य सचिव की अध्यक्षता में राज्य के 11 ब्रांडों के पान

मसालों को अगले 12 महीने के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया। हालांकि राज्य में पहले से

ही लॉकडाउन और कोरोना के संक्रमण को देखते हुए तंबाकू पदार्थों का सार्वजनिक स्थलों

पर प्रयोग पूर्णता प्रतिबंधित है। अब अचानक से आए इस फैसले के बाद से सभी पान

दुकानदार और तंबाकू विक्रेता अपने माल को ऊंचे दामों पर बेचकर निकालने में लग गये

हैं। वहीं दूसरी ओर तंबाकू खाने वालों में भी जमाखोरी की एक होड़ सी मच गई है। 5 रुपये

में बिकने वाला तंबाकू अब बाजार में 25 से 30 रुपये में बिक रहा है। वहीं दुकानदार भी इसे

बेचने हैं कोई शर्म नहीं कर रहे हैं। आंकड़ों की मानें तो राज्य के 38.9% लोग तंबाकू का

सेवन करते हैं। अचानक से आए इस फैसले के बाद उनमें कौतूहल मच गया है।

लॉकडाउन के कारण फंसी पूंजी अब कोई काम की नहीं

12 महीने तक 11 ब्रांडों के गुटका और पान मसालों पर बैन लगाने के बाद अब राजधानी में

तंबाकू की कालाबाजारी शुरू हो गई है। तंबाकू विक्रेता भी इसे एक अवसर की तरह देख रहे

हैं और जमकर मुनाफा कमा रहे हैं। इस फैसले के बाद से 5 में मिलने वाला कमला पसंद

अभी 25 में बेचा जा रहा है। वहीं 25 की रजनीगंधा तुलसी 50 से 60 रुपए में बिक रही है।

राजधानी के कई तंबाकू विक्रेताओं का कहना है कि अचानक से आए इस फैसले से हमारी

कमर टूट गई है। उनका कहना है कि हमारी जो पूंजी इस व्यवसाय में लगी हुई थी वह भी

फंस गई है। कुछ विक्रेताओं का कहना है कि राज्य सरकार हमें बताएं कि हमें अपने बचे

हुए मालों का क्या करना है। उनका कहना है कि एक ओर तो लॉकडाउन के कारण हमारी

पूंजी फंस गयी थी लेकिन अब तो स्थिति हमारी समझ से परे है और परेशानियों भरा भी।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from रांचीMore posts in रांची »

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!