fbpx Press "Enter" to skip to content

लॉक डाउन में छिन गया सैलून संचालकों का रोजी रोजगार

प्रतिनिधि

अनगड़ा : लॉक डाउन में छिन गये रोजगार की परेशानी झेल चुके सैलून संचालक

अनलॉक वन व टू में भी दुकान की अनुमति नहीं मिलने से परेशान है। रोजमर्रा दैनिक

मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करने वाले सैलून संचालक आज विकट स्थिति से

गुजर रहे हैं। इनके समक्ष आज रोजी रोजगार और पेट चलाने की समस्या  उत्पन्न हो गई

है। गेतलसूद बाजार में छोटी सी दुकान के सहारे पूरे परिवार का भरण पोषण करने वाले

राजेश ठाकुर, दिनेश ठाकुर, वरुण ठाकुर, प्रमोद ठाकुर ने  सोमवार को संवाददाता से

अपनी पीड़ा को साझा किया। 

बताया कि  जीने खाने भर सैलून में मेहनत कर परिवारों का पालन पोषण करते थे। आज

लॉकडाउन के लगभग 3 माह हो गए। उनकी दुकान के ताले नहीं खुले। हम सभी करे तो

करे क्या। ऐसे में बच्चों और परिवार को चलाना अब हमारे बस की बात नहीं है। कल तक

सैलून में काम कर किसी तरह जीवन की गाड़ी खींच रहे थे। अब सभी भुखमरी के कगार

पर हैं। यह पूछे ने पर कि राशन कार्ड है या नहीं। सब ने बताया कि कार्ड है, राशन मिल रहा

है। परंतु सब्जी तेल मसाला समेत घरेलू खर्च के लिए कोई आय का स्त्रोत नहीं बचा है।

यदि कुछ दिन में सैलून नहीं खुला तो हम सब परिवार भूखे मरने पर बेबस हो जाएंगे।

लॉक डाउन में छिन गया रोजगार के बारे में बीडीओ की सोच

वीडीओ उत्तम प्रसाद ने इस बारे मे कहा कि ऐहतियातन प्रशासन द्वारा सैलून दुकान

खोलने पर रोक लगाया गया है। दुकान खोलने को लेकर फिलहाल उपर से कोई आदेश

नही मिला है। हम प्रयास में लगे है। कुछ दिन प्रतीक्षा करें आधिकारिक आदेश मिलते ही

प्रखंड के सभी सैलून दुकानों को खोल दिया जाएगा।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कामMore posts in काम »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!