fbpx Press "Enter" to skip to content

रूस ने लॉन्च की दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन

  • राष्ट्रपति पुतिन की बेटी को लगाया गया इंजेक्शेन

मॉस्को : रूस ने मंगलवार को ऐलान किया है कि उसने कोरोना वायरस की वैक्सी न को

मंजूरी दे दी है। साथ ही राष्ट्रपति व्लावदीमिर पुतिन की तरफ से इस बात से पर्दा उठाया

गया है कि अब उनकी बेटी को कोरोना की वैक्सी्न दी जा चुकी है। पुतिन ने कहा है कि

जल्दउ ही देश भर में वैक्सीेन का उत्पाैदन शुरू हो जाएगा और बड़े स्तनर पर

वैक्सीजनेशन प्रक्रिया को शुरू किया जाएगा। अभी तक हालांकि यह जानकारी सामने नहीं

आई कि पुतिन की कौन सी बेटी को वैक्सी न दी गई है। वह दो बेटियों मारिया और

कटरीना के पिता हैं।

रूस राष्ट्रपति पुतिन बोले-दुनिया के लिए अहम पल

 रूस की वेबसाइट रशिया टुडे की तरफ से बताया गया है कि मंगलवार की सुबह पुतिन ने

दुनिया को पहली कोरोना वायरस वैक्सीकन तैयार होने की जानकारी दी। उन्होंकने कहा

कि यह वैक्सीहन जानलेवा वायरस के खिलाफ इम्यूरनिटी का निर्माण करने में सक्षम है

जो तेजी से दुनिया में फैल रहा है और कई लोगों की जान ले रहा है। पुतिन ने अपनी

सरकार के सदस्यों से कहा, जहां तक मुझे मालूम है यह कोरोना वायरस संक्रमण के

खिलाफ एक वैक्सीेन को इस सुबह रजिस्टार किया गया है, यह दुनिया की पहली वैक्सी न

है। उन्होंएने आगे कहा, ‘मैं इस वैक्सीयन को तैयार करने के काम में लगे हर शख्स‍ का

शुक्रिया अदा करना चाहता हूं। यह पूरी दुनिया के लिए एक अहम पल है। बेटी को पहले ही

किया गया वैक्सीानेट पुतिन ने जोर दिया कि रूस में वैक्सीेनेशन स्वैाच्छिक आधार पर

होना चाहिए। हर किसी पर प्रतिरक्षण के लिए दबाव नहीं डाला जाना चाहिए। सदस्यों को

वैक्सीधन के बारे में जानकारी देते समय ही राष्ट्र पति ने बताया कि उनकी एक बेटी को

पहले ही वैक्सीकनेट किया जा चुका है।

कोविड-19 ने अब तक दुनियाभर में सात लाख से ज्याीदा लोगों की जान ले ली है। वहीं दो

करोड़ लोग इससे संक्रमित हैं। बताया जा रहा है कि जनवरी में रूस की वैक्सीसन

सामान्या वितरण के लिए मौजूद होगी। इस बीच स्वा स्य्है मंत्रालय ने बताया है कि फ्रंट

लाइन वर्कर्स और उन मेडिकल प्रोफेशनल्सग को वैक्सीानेशन में प्राथमिकता दी जाएगी।

मॉस्कोि गेमालिया इंस्टीकट्यूट में वैक्सीान का ह्यूमन ट्रायल चल रहा था

इस कदम के साथ ही बड़े स्तकर पर टीकाकरण की शुरूआत भी हो जाएगी। वैक्सीथन का

क्लीमनिकल ट्रायल जिसमें इसकी सुरक्षा और इसके असर को हालांकि अभी तक परखा

जा रहा है। जिस स्पीकड से रूस में वैक्सीरन की तरफ बढ़ रहा है वह इस बात को बताता है

कि पुतिन इस रेस को जीतना चाहते हैं। विश्वक स्वारस्य्ह संगठन (डब्लूेएचओ) की तरफ

से रूस से अपील की गई है कि वह हर तय नियम का पालन करे। पुतिन ने वैक्सी्नेशन के

लिए मांगा प्लाून पुतिन ने स्वाीस्य्से मंत्री मिखाइल मुराश्कोु से कहा है कि वह प्रतिरक्षण

की विस्तृलत योजना के बारे में उन्हें जानकारी दे। राष्ट्रीपति पुतिन ने कहा, ‘मैं जानता हूं

कि यह बहुत प्रभावी तरीके से काम करती है, एक स्थिर प्रतिरक्षा का निर्माण करती है और

मैं फिर से दोहराता हूं कि इस वैक्सीवन ने हर प्रकार के जरूरी परीक्षण को पास कर लिया

है।’ रूस की कोरोना वायरस वैक्सीवन को गमेलिया रिसर्च इंस्टीीट्यूट और रूस के रक्षा

मंत्रालय की तरफ से तैयार किया जा रहा है। स्वाीस्य् ग मंत्रालय ने रविवार को कहा था

कि अभी क्लीरनिकल ट्रायल डाटा और कोविड-19 वैक्सी न के दूसरी जरूरी डॉक्यूकमेंट्स

पर काम जारी है और ये सभी एक्स पर्ट रिव्यूर से गुजर रहे हैं।


 

 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रुसMore posts in रुस »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!