Press "Enter" to skip to content

छत गिरा बड़ा प्लास्टर बाल बाल बचे सीसीएल परिवार और बच्चे

कुजू : छत गिरा, लोग बाल बाल बचे लेकिन इससे सीसीएल के क्वार्टरों की गुणवत्ता का

खुलासा भी हो गया। सीसीएल विभाग के कायाकल्प योजना में ठेकेदारों द्वारा

गुणवत्तापूर्ण सामग्री के उपयोग नहीं करने और अधिकारियों की अनदेखी का खामियाजा

एक सीसीएलकर्मी परिवार को उठाना पड़ा है। जहां सीसीएलकर्मी समेत अबोध बालक के

ऊपर क्वार्टर के छत का बड़ा भाग प्लास्टर टूटकर गिर गया। इस घटना में सभी लोग

बाल-बाल बच गए। इस घटना के बाद कर्मी काफी आक्रोश में है। वही, मज़दूर प्रतिनिधियों

व परिजनों ने संबंधित ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेड करने की मांग की है। सूचना पाकर

सीसीएल के सिविल विभाग के अधिकारियों ने घटनास्थल पहुंचकर मामले की जानकारी

ली। वही, आवास की मरम्मती कराने के साथ-साथ ठेकेदार के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई

करने की बात कही।

छत गिरा तो क्वार्टर का मामला सामने आया

सीसीएल कुजू क्षेत्र अंतर्गत तोपा परियोजना के कम्पोजिट बी टाईप कॉलोनी में तोपा

खुली खदान में कार्यरत सीसीएल कर्मी सीनियर ओवरमैन महादेव मंडल के अपने आवास

में रविवार की रात्रि करीब 12 बजे अपने परिजनों के साथ क्वार्टर में सोने की तैयारी कर

रहे थे। महादेव मंडल के अनुसार, अंदर के कमरे में पलंग पर 2 दिन पूर्व जन्म लिए

नवजात शिशु सहित दो बच्चे सो रहे थे। नवजात शिशु को मच्छरदानी लगाने के लिए

महादेव मंडल का बड़ा पुत्र जैसे ही पलंग पर पहुंचा। अचानक कमरे के छत के प्लास्टर का

बड़ा भाग पलंग पर गिर पड़ा। इस घटना में मछरदानी के कारण नवजात शिशु तो बच

गया परंतु महादेव मंडल का 8 वर्षीय पोता देव कुमार के सिर पर गंभीर चोटें आई। सिर दो

जगह फट गया। वहीं, 3 वर्षीय नतिनी के पैर में चोट लगी। महादेव मंडल का बेटा भी

घायल हो गया। इस घटना से घर में कोहराम मच गया। आनन-फानन में लोगों ने घायल

बच्चो को इलाज के अस्पताल में भर्ती कराया गया। परिजनों ने कहा कि कायाकल्प

योजना के तहत क्वार्टर मरम्मती कार्य के नाम पर काफी अनियमितता बरती गई है।

जिसका खामियाजा आज हम लोगोंं को भुगतना पड़ा। वही, प्रबंधक से ठेकेदार का बकाया

राशि न देकर इलाज में जो भी खर्च हुआ हैं उसका भुगतान करने की मांग की है।

घटना के बाद अधिकारियों का दल पहुंचा

घटना की सूचना के बाद एसओसी विवेक कुमार ने अपने सहयोगी अभियंता गुड्डू कुमार

रजक के साथ घटनास्थल पहुंचे। साथ ही महादेव मंडल के परिजनों से घटना की

जानकारी ली। वही, अभिलंव आवास की मरम्मत कराने का बात कही। उन्होंने कहा कि

संबंधित ठेकेदार को बुलाकर मामले पर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। वहीं, सीसीएल

सीकेएस ने घायल के इलाज में हुए खर्च का वहन परियोजना स्तर से उठाने, संबंधित

ठेकेदार के बिल पर रोक लगाने, कायाकल्प के तहत हुए कार्य की जांच कराने अन्यथा

आंदोलन की चेतावनी दी है।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from घोटालाMore posts in घोटाला »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रामगढ़More posts in रामगढ़ »
More from हादसाMore posts in हादसा »

One Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
Exit mobile version