fbpx Press "Enter" to skip to content

रोहित पांडेय को भाजपा ने भागलपुर से प्रत्याशी घोषित किया

  • अपने पुत्र को टिकट नहीं दिला पाये अश्विनी चौबे

  • राष्ट्रीय खबर ने इसका भी सही अनुमान लगाया

  • जमीन से जुड़े कार्यकर्ता भी चाहते थे ऐसा नेता

दीपक नौरंगी

भागलपुरः रोहित पांडेय को भारतीय जनता पार्टी ने अंततः भागलपुर विधानसभा सीट से

अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया। इससे पहले इस सीट पर दावेदारी के तौर पर केंद्रीय मंत्री

अश्विनी चौबे के पुत्र अजीत चौबे के नाम की चर्चा जोरों पर थी।

यहां देखिये टिकट मिलने के बाद उन्होंने क्या कहा

राष्ट्रीय खबर ने पहले ही इस बात के संकेत दे दिये थे कि इस बार अधिक सीट जीतने की

चुनौती की वजह से भाजपा ऐसा कोई दांव नहीं खेलेगी, जिसमें हार की तनिक भी गुंजाइश

हो। इसी वजह से केंद्र में मंत्री होने के बाद भी अश्विनी चौबे अपनी कोशिशों में कामयाब

नहीं हुए और उनके पुत्र को यहां से टिकट नहीं मिल पाया।

इस बार भी भाजपा के अंदर टिकट के लिए लॉबिंग बड़ी जोरदार रही। इसी वजह से एक

खास खेमा ने रोहित पांडेय का नाम आगे बढ़ने के बाद जानबूझकर पूर्व केंद्रीय मंत्री

शहनवाज हुसैन का नाम भी उछाला था। लेकिन श्री हुसैन पहले ही राष्ट्रीय खबर के साथ

अपनी बात-चीत में इशारे ही इशारे में क्या कुछ होने वाला है, उसका संकेत दे चुके थे।

जमीन से जुड़े नेता रोहित पांडेय को टिकट मिलने की घोषणा होने के बाद उनके समर्थकों

में खुशी की लहर दौड़ गयी।

खुद को प्रत्याशी घोषित करने के बाद रोहित पांडेय से भी राष्ट्रीय खबर के ब्यूरो प्रमुख

दीपक नौरंगी ने त्वरित चर्चा की। इस बातचीत में संभावित चुनाव रणनीति के अलावा

अंदरुनी समीकरण पर भी उनसे सीधा प्रश्न पूछा गया था। श्री पांडेय ने कहा कि पिछले

चुनाव में भी अजीत चौबे को टिकट इसलिए दिया गया था क्योंकि वह पार्टी के पुराने

कार्यकर्ता थे और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के समय से ही सक्रिय थे। उसके पीछे

उनके पिता के कद्दावर नेता का कोई मसला नहीं था। उन्होंने कहा कि यह कार्यकर्ताओं पर

आधारित पार्टी है। यहां वंशवाद नहीं होता और पार्टी अपने अनुभव के आधार पर टिकट

का फैसला करती है। एक बार फैसला हो जाने के बाद सारे लोग एकजुट होकर उसी पार्टी

प्रत्याशी की जीत सुनिश्चित करने में जुट जाते हैं।

रोहित पांडेय ने पटना के एक कार्यकर्ता का उल्लेख किया

इस क्रम में रोहित पांडेय ने पटना के एक नेता संजीव चौरसिया का उल्लेख भी किया,

जिन्होंने पार्टी में बहुत ज्यादा काम किया है। उनके मुताबिक पार्टी सभी के काम काज की

समीक्षा कर उनकी भूमिका तय करती है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहनवाज हुसैन का नाम चर्चा में आने के

मुद्दे पर सफाई से श्री पांडेय ने कहा कि वह पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में से एक हैं। अगर वह

चाहेंगे तो बिहार के किसी भी सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। लेकिन ऐसा नहीं हुआ है तो श्री

हुसैन क्या चाहते हैं, यह खुद ही स्पष्ट है। श्री पांडेय को टिकट मिलने की घोषणा के बाद

उनका पारंपरिक तरीके से तिलक लगाकर स्वागत भी किया गया।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बिहार विधानसभा चुनाव 2020More posts in बिहार विधानसभा चुनाव 2020 »
More from भागलपुरMore posts in भागलपुर »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

3 Comments

  1. […] रोहित पांडेय को भाजपा ने भागलपुर से प्… अपने पुत्र को टिकट नहीं दिला पाये अश्विनी चौबे राष्ट्रीय खबर ने इसका भी सही अनुमान … […]

Leave a Reply

error: Content is protected !!