Press "Enter" to skip to content

रेल लाइन पर पहाड़ खिसकने के बाद भी बहुत बड़ा हादसा टला

बरहीः रेल लाइन पर रात के अंधेर में पहाड़ खिसक आया था। कोडरमा से हजारीबाग आने

में रेल लाइन पर बहुत बड़ा हादसा टल गया। पत्थर के चट्टान गिरने से रेलवे ड्राइवर

बॉडीगार्ड सहित बाल-बाल बचे । ड्राइवर ने अपनी काबिलियत के साथ ट्रेन को बचाया।

बरही कोडरमा से हजारीबाग आने में जवाहर घाटी स्थित रेलवे ब्रिज के पास रेल लाइन पर

बीती रात्रि करीब 2:30 बजे अचानक पत्थर की चट्टानें खिसक कर गिर गया। जवाहर घाटी

पहाड़ से बोल्डर उस समय गिरना शुरू हुआ जब कोडरमा से हजारीबाग के लिए मालगाड़ी

ट्रेन गुजर रही थी। किंतु मालवाहक ट्रेन के ड्राइवर अमरदीप कुमार (कोडरमा) व गार्ड सुरेश

प्रसाद यादव (हजारीबाग) की सूझबूझ से एक बड़ा हादसा टल गया। उक्त स्थल पर गति

प्रतिबंध होने के कारण ट्रेन 30 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चल रही थी। ट्रेन के

चालक और गार्ड ने देखा कि पहाड़ से पत्थर का चट्टानें खिसक कर रेलवे लाइन पर गिर

रहा है। चालक ने सूझबूझ दिखाते हुए इमरजेंसी ब्रेक लेकर ट्रेन को किसी प्रकार रोका। ट्रेन

रुकते रुकते चट्टान से भी सट गया। जिसमें ट्रेन के इंजन के पास आंशिक क्षति हुई। हादसे

के बाद उक्त रेलवे लाइन पर करीब 5 घंटे तक ट्रेनों का आवागमन बाधित रहा। बुधवार

पूर्वाहन 8 बजे तक रेलवे लाइन से सभी पत्थर व चट्टानों को हटाया गया।

रेल लाइन पर गिरे पत्थरों को सुबह हटाया जा सका

घटना के बाद बुधवार को धनबाद मंडल के वरीय अभियंता – 5 प्रीतम कुमार, कोडरमा के

सहायक मंडल अभियंता राजन कुमार, यातायात निरीक्षक मनोज कुमार नीरज, बरही

स्टेशन रेलवे स्टेशन के अधीक्षक चंदन कुमार केशरी, पिपराडीह स्टेशन के अधीक्षक बीवी

सिंह आदि रेलवे के पदाधिकारी स्थल निरीक्षण किया। बुधवार को दिन में भी करीब दो दो

घंटा के लिए ट्रेन का आवागमन रोकते हुए जो चट्टान पहाड़ से सिखक कर गिरने लायक

था, उसे भी हटाया गया। बताया जाता है कि अगर ट्रेन बोल्डर से टकराती तो ट्रेन संतुलन

होते हुए ब्रिज के नीचे डैम में भी गिर सकती थी। जो बहुत बड़ी हादसा होता, किंतु रेलवे

ड्राइवर व गार्ड की सूझबूझ से यह हादसा टल गया। विदित हो कि एनएच 31 फोरलेन

चौड़ीकरण के दौरान उक्त स्थल से पहाड़ का पत्थर काटा गया, जो काफी बेतरतीब 

ढंग से काटा गया है, जिसके कारण यह घटना घटी। इसके पहले भी एनएच 31 के किनारे

पहाड़ का चट्टान काटा गया, उसे भी कई बार पत्थर एनएच 31 के सड़क पर भी गिरते देखा

गया है।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from कोडरमाMore posts in कोडरमा »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from हजारीबागMore posts in हजारीबाग »
More from हादसाMore posts in हादसा »

One Comment

... ... ...
error: Content is protected !!