fbpx Press "Enter" to skip to content

भाजपा के खिलाफ असम में कांग्रेस वाली महागठबंधन में शामिल रहेंगे




  • पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों पर भी हो रहा विचार

  • कई राज्यों में पांच प्रतिशत हिंदीभाषी मतदाता है

  • असम में चुनाव लड़ने का तेजस्वी यादव का एलान

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी: भाजपा के खिलाफ यहां भी मोर्चा बांधने की तैयारी अब राष्ट्रीय जनता दल

द्वारा की जा रही है। केंद्र सरकार और भाजपा के अनुकंपा में बने हुए बिहार के नीतीश

कुमार के सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा रहे हैं, बिहार के विपक्षी नेता तेजस्वी

यादव । उन्होंने मीडिया को अपनी रणनीति की जानकारी दी।

वीडियो में देखिये तेजस्वी यादव ने क्या कहा

आज गुवाहाटी में संवाददाता सम्मेलन में भाषण देते हुए आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने

कहा है कि असम में सभी भाजपा विरोधी दलों को एकजुट होकर महागठबंधन में शामिल

होना चाहिए। तेजस्वी यादव की राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अब असम में उस चुनाव

लड़ने की लड़ाई लड़ रहा है, जो 27 मार्च- 6 अप्रैल, 2021 में मतदान करने के लिए तैयार है

और पूर्वोत्तर राज्य केवल शुरुआत हो सकती है।तेजस्वी यादव ने कहा कि असम में राजद

के चुनाव लड़ने की संभावना है और श्री यादव सहयोगी दलों की तलाश में हैं। बिहार की

तरह इस राज्य में भी कांग्रेस के नेतृत्व में छह दलों का महागबंधन है। बिहार, पश्चिम

बंगाल, झारखंड, ओडिशा और छत्तीसगढ़ से लगभग 5 प्रतिशत हिंदी भाषी लोग हैं।

तेजस्वी यादव ने कहा है कि, हमारे पास 11 सीटों पर ऐसे लोगों की काफी संख्या है, लेकिन

हम केवल वहीं चुनाव लड़ेंगे जहां जीतने की संभावना अधिक है। कांग्रेस राष्ट्रीय स्तर पर

राजद से संबद्ध है और बिहार स्थित पार्टी के संस्थापक लालू प्रसाद यादव के दिनों से ही

हमेशा अच्छे संबंध बनाए रखा है। उन्होंने कल शाम असम कांग्रेस नेतृत्व से मुलाकात

की। वे आज फिर एआईयूडीएफ प्रमुख बदरुद्दीन अजमल और कांग्रेस नेतृत्व से मुलाकात

कर सकते हैं।

भाजपा के खिलाफ कुछ इलाकों में तेजस्वी की लोकप्रियता है

सूत्रों की मानें तो असम के कुछ इलाकों में स्थित विशाल भोजपुरी वोट बैंक श्री यादव को

स्टार प्रचारक के तौर पर इस्तेमाल कर सकता है। परंपरागत रूप से इन मतदाताओं का

भाजपा की ओर बोलबाला रहा है। तेजस्वी यादव ने भाजपा के पूर्व सहयोगी हागराम

मोहिलरी के नेतृत्व में बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (बीपीएफ) के साथ भी संबंध बनाए रखे हैं ।

इस बीच, खबर मिली है कि बिहार से राजद के कट्टर प्रतिद्वंद्वी जनता दल यूनाइटेड भी

इस बार असम चुनाव लड़ सकते हैं । हालांकि, संभावना है कि यह एकल जाना होगा ।

असम विधानसभा की 126 सीटों में से 47 में पहले चरण में 27 मार्च, 39 को 1 अप्रैल और

40 को 6 अप्रैल को मतदान होगा। तीनों चरणों की मतगणना दो मई को होगी। बता दें,

बिहार की प्रमुख विपक्षी पार्टी राजद इससे पहले बंगाल चुनाव में भी अपने प्रत्याशी खड़े

करने की घोषणा कर चुकी है। देखना होगा कि वह इन राज्यों में किस तरह चुनावी

गठबंधन कर अपनी पार्टी का विस्तार करती है। हालाँकि, राजद ने इससे पहले ममता

बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में अपने प्रत्याशी

खड़े करने की मंशा जताई थी। वाम मोर्चा के शासन काल में 2006 से 2011 के बीच

पश्चिम बंगाल में राजद का एक विधायक था। राजद के प्रधान महासचिव अब्दुल बारी

सिद्दीकी और राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक ने बीते दिनों तृणमूल कांग्रेस के साथ

गठबंधन के लिए चर्चा की थी। राजद की नजर बिहार-पश्चिम बंगाल सीमा पर कुछ सीटों

पर है, जहां बिहारी मूल के मतदाताओं की अच्छी खासी आबादी रहती है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from असमMore posts in असम »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

One Comment

... ... ...
%d bloggers like this: