Press "Enter" to skip to content

पेट्रोल की बढ़ती कीमतें बनी सरकार के गले की हड्डी, महंगाई चरम पर




  • विपक्षी दलों ने सरकार पर तंज कसना शुरू कर दिय , लालू ने भी कसा तंज

पटना : पेट्रोल की बढ़ती कीमतें अब लोगों को परेशान करने लगी है। लोग इतने परेशान




हो गए हैं कि उनका गुस्सा भी बाहर छलकने लगा है। बेलगाम कीमतों के कारण सरकार

भी धीरे-धीरे बैकफुट पर आ रही है। खुद केंद्र और राज्य सरकार में शामिल सहयोगी दलों

को भी अपना बचाव करने में मुश्किल आ रही है। पेट्रोल की कीमतों को लेकर कांग्रेस ने

जहां कल पोस्टर वार शुरू किया था उसके बाद आज राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद भी सरकार

पर हमलावर हो गए। उन्होंने ट्विटर के जरिए सरकार और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश

कुमार क पर तंज कसा। कांग्रेस की तर्ज पर ही उन्होंने इस सरकार को इस मूल्यवृद्धि पर

बधाई दी और मुख्यमंत्री को डबल इंजन की सरकार से भी सुशोभित किया। कांग्रेस ने कल

वीरचंद पटेल पथ ,भाजपा कार्यालय के निकट तथा अन्य प्रमुख स्थानों पर इस तरह के

पोस्टर लगाकर जनता की दुखती रग पर हाथ रख दिया था। पोस्टर में कार्टूनों के जरिए

भाजपा सरकार पर कड़ा व्यंग भी किया गया था। इधर राजद सूत्रों के मुताबिक पार्टी ने

बढ़ती महंगाई के खिलाफ और पेट्रोल डीजल के मूल्य में जानबूझकर की जा रही वृद्धि के

विरोध में जिला स्तर पर धरना ,प्रदर्शन, आंदोलन करने का निर्णय लिया है। कुछ जिलों में

उसके जिला इकाइयों ने कल धरना प्रदर्शन किया भी था। लेकिन अब कई जगह से

स्थानीय लोगों का साथ मिलने की भी खबर मिल रही है। स्थानीय लोग स्वतःस्फूर्त ढंग

से इस तरह के धरना , प्रदर्शनों को सहयोग कर रहे हैं। कारण कि पेट्रोल डीजल की बढ़ती

कीमत से एक तरफ जहां आम आदमी इसके बोझ तले दबता जा रहा है। वहीं इसकी

कठिनाइयों का शिकार अब भाजपा समर्थक वोटर भी होने लगे हैं। इसलिए सरकार के




प्रति उनके समर्थन में भी काफी कमी आ गई है।

पेट्रोल की बढ़ती कीमतें और सरकार के समर्थन में कमी

लोगों का मानना है कि यह सिर्फ अदानी अंबानी की सरकार है। कारपोरेट घरानों की

सरकार है। इसलिए वह आम जनता की कठिनाइयों की परवाह नहीं करती है। बंगाल

चुनाव हारने के बाद से वह आम लोगों से बदला लेने की तर्ज पर पेट्रोल की कीमतों को बढ़ा

रही है। लोगों की परेशानी देख विपक्षी दल अब केंद्र और राज्य सरकार को इस मुद्दे पर घेर

रहे हैं। सामान्य जन से लेकर भाजपा समर्थकों में भी यह आम राय है कि केंद्र की मोदी

सरकार के नेतृत्व में कच्चे तेल की कीमतों में लगातार उछाल आ रहा है। पिछले कुछ

महीनों की बात करें, तो 1 दिन भी कच्चे तेल की कीमतें नीचे नहीं गई। बल्कि हर दूसरे

दिन कीमतें धीरे-धीरे बढ़ती ही गई। पहले मोदी सरकार ‘अच्छे दिन’ का नारा देकर लोगों

को अपनी तरफ आकर्षित करती रही। अब यही नारा विपक्ष मोदी सरकार के प्रति कटाक्ष

के रूप में इस्तेमाल कर रहा है। इसी तरह बिहार मंय भी जेडीयू और बीजेपी की सरकार है

और राजद विपक्ष में है। इस गठबंधन को डबल इंजन की सरकार का नाम दिया गया है

और इसी डबल इंजन की सरकार पर आरजेडी सुप्रीमो ने तंज कसा है। लालू ने जनता की

परेशानी साझा करते हुए सरकार पर कच्चे तेल की कीमतें बढ़ाने पर कड़ा कटाक्ष किया है।

लालू फिलहाल दिल्ली में पुत्री मीसा भारती के आवास पर रह रहे हैं। इस बात की भी चर्चा

जोरों पर है कि जुलाई के पहले हफ्ते में वे वापस बिहार लौट सकते हैं। देखना है कि उनके

पटना आने के बाद से प्रदेश में विपक्षी दलों की एकता क्या रंग लाती है और वह मिलकर

कैसे सरकार को घेरते हैं।



More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पटनाMore posts in पटना »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

One Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: