fbpx Press "Enter" to skip to content

तपोवन सुरंग में जारी है बचाव अभियान लेकिन मलवा हटाना कठिन चुनौती

  • चमोली हादसे में अब तक 32 लोगों की मौत

  • छह सौ मीटर का मलवा हटाना है दल को

  • दो ड्रोन भी बचाव कार्य मे लगाये गये हैं

  • इलाके से 170 से अधिक लोग लापता

राष्ट्रीय खबर

चंडीगढ़ः तपोवन सुरंग में बचाव अभियान अब भी जारी है। बचाव दल और अंदर फंसे

लोगों के बीच काफी मलवा पड़ा है, जिन्हें हटाया जा रहा है इस बीच सुरंग में जिंदा लोगों

की तलाश में जुटे बचाव दल को अब तक 32 शव मिले हैं। वहां फंसे 35 अन्य मजदूरों को

बचाने के लिए दिन रात काम चल रहा है। इस दौरान ड्रोन की भी मदद ली गई। बताया जा

रहा है कि अभी टनल से मलबा हटाने में और समय लगेगा। चमोली के तपोवन में चल रहे

रेस्क्यू ऑपरेशन और कामयाबी के बीच अभी भी करीब 60 मीटर का फासला है। सुरंग के

अंदर 30 से ज्यादा मजदूरों के फंसे होने का अंदेशा है। रेस्क्यू टीमों में 600 से ज्यादा लोग

लगातार मलबा निकालने में जुटे हैं। इस हादसे में अब तक 32 लोगों की मौत हो चुकी है,

जबति 170 से ज्यादा लोग लापता बताए जा रहे हैं।

रेस्क्यू में जुटे अफसरों का कहना है कि हम सिर्फ इतना जानते हैं कि सुरंग 2.5 किमी लंबी

है और 30-35 कर्मचारी अंदर फंस गए हैं। एसडीआरएफ, पुलिस, आईटीबीपी, सेना और

नौसेना के मरीन कमांडो टनल के अंदर फंसे लोगों को निकालने के लिए मलबा हटा रहे हैं।

तपोवन सुरंग के अलावा भी अनेक स्थानों पर पुल बह गये

पुल के बह जाने के कारण 12-13 गांवों से संपर्क टूट गया है, इसलिए हम उनके लिए

राशन, पानी, बिजली जैसी आवश्यक व्यवस्था कर रहे हैं। दिल दहलाने वाला वीडियो

आया सामने तपोवन बांध पर 7 फरवरी को जो आपदा आई थी वो कितनी भयानक थी

इसके कई सबूत और तस्वीरें अभी तक सामने आ चुकी हैं, लेकिन आज एक ऐसी तस्वीर

आई है जो दिल दहला देने वाली है। ग्लेशियर फटने के बाद जब तेज आवाज के साथ

तपोवन बांध की तरफ मलबे का सैलाब बढ़ने लगा तो कई कर्मचारी जान बचाने के लिए

बांध के ऊपर चले गए। लेकिन सैलाब इतना भयानक था कि इसके आगे बांध की ऊंचाई

भी बौनी साबित हुई. लोग बचने की कोशिश में यहां वहां भागते रहे लेकिन एक मलबे की

ताकत सबको बहा ले गई। बांध के किनारे पहाड़ों पर बने घरों में से किसी शख्स ने ये

खौफनाक मंजर अपने मोबाइल कैमरे में कैद कर लिया। अभी 172 लोग लापता चमोली

तपोवन आपदा में 206 लोग लापता थे, जिनमें से 2 लोग जिन्दा हैं। इनमें से एक राशिद

सहारनपुर का रहने वाला है और दूसरा सूरज सिंह चमोली का रहने वाला है। ये दोनों अपने

घर पर सुरक्षित है, जो अभी तक लापता लोगों की सूची में थे। आपदा मे 204 लोग लापता

हुए थे, जिसमें से 32 लोगों के शव बरामद हुए है और 10 क्षत विक्षत मानव अंग बरामद

हुए हैं. अभी 172 लोगों का कुछ पता नहीं चल पाया है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from उत्तराखंडMore posts in उत्तराखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from हादसाMore posts in हादसा »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: