fbpx Press "Enter" to skip to content

प्रवासी केंद्र पर हमला युद्ध अपराध के समान: संयुक्त राष्ट्र




त्रिपोलीः प्रवासी केंद्र पर हुए हमले पर संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि इस हमले को युद्ध अपराध करार दिया जा सकता है।

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बैशेलेट ने कहा कि लीबिया में सरकार द्वारा चलाये जा रहे

हिरासत केंद्रों में हजारों प्रवासी रखे गये हैं।

इस केंद्र पर मंगलवार को हवाई हमला किया गया और लीबिया में जारी संघर्ष में शामिल हर पक्ष को

यह मालूम था कि इस केंद्र में आम लोग रहते हैं।

ऐसे में इस हमले को युद्ध अपराध घोषित किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि यह दूसरी बार है जब किसी आश्रय गृह को निशाना बनाया गया है।

सुश्री बैशेलेट ने बताया कि इस हमले में 44 लोग मारे गये और कम से कम 130 लोग घायल हो गये।

लीबियाई सरकार इस हमले का आरोप जनरल खलीफ हफ्तार के नेतृत्व वाले सुरक्षा बलों पर लगा रही है।

वहीं जनरल हफ्तार के वफादार सुरक्षा बल सरकारी बलों को हमलों का जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

मृतकों में से अधिकतर उप सहारा अफ्रीका से ताल्लुक रखते थे

जो लीबिया के रास्ते यूरोप जाने का प्रयास कर रहे थे।

लीबिया के सरकारी हिरासत केंद्रों में हजारों नागरिक हिरासत में हैं।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने बताया कि वह हमले की रिपोर्ट से ‘नाराज’ हैं।

उन्होंने मामले की स्वतंत्र जांच और दोषियों को कड़ी सजा दिलाने की मांग की।

प्रवासी केंद्र पर हमले के बाद मितिगा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर यातायात बहाल

लीबिया के त्रिपोली स्थित मितिगा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर हमले के कारण

एक दिन स्थगित रहने के बाद हवाई यातायात बहाल कर दिया गया है।

हवाई अड्डे के सूत्रों ने बुधवार देर रात कहा कि हवाई अड्डे पर हमले के कारण हवाई यातायात निलंबित कर दिया था।

लीबिया की राष्ट्रीय सेना (एलएनए) के प्रवक्ता अहमद मिस्मारी ने कहा कि एलएनए के जवानों ने मितिगा स्थित यूएवी नियंत्रण अड्डे को नष्ट कर दिया है।

उन्होंने अपने फेसबुक पर लिखा, ‘‘मितिगा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उड़ानों को फिर से शुरू कर दिया गया है।

हवाई सेवा को रात में हवाई अड्डे पर किये गये कई मिसाइल हमलों के बाद निलंबित कर दिया गया था।’’

एलएनए गत अप्रैल से त्रिपोली पर कब्जे के अभियान में लगा हुआ है

जिस पर संयुक्त राष्ट्र समर्थित नेशनल एकॉर्ड (जीएनए)सरकार का नियंत्रण है।

जीएनए भी जवाबी कार्रवाई कर रहा है।



Rashtriya Khabar


Be First to Comment

Leave a Reply

WP2FB Auto Publish Powered By : XYZScripts.com