Press "Enter" to skip to content

विलुप्त प्राय सुमात्रा बाघ एक फंदे में फंसकर मर गया




पेकानबारूः विलुप्त प्राय प्रजाति सुमात्रा के बाघों की संख्या एक कम हो गयी। इस प्रजाति का एक बाघ यहां फंदे में फंसकर मरा हुआ पाया गया है। वैसे भी बता दें कि विलुप्त प्राय प्रजाति के सुमात्रा के बाघों की आबादी अब पूरी दुनिया में घटते हुए मात्र चार सौ रह गयी है।




इसी वजह से उन्हें इंडोनेशिया में पूर्ण संरक्षण प्रदान किया जा रहा है ताकि इस विलुप्त प्राय प्रजाति के बाघों की संख्या को धीरे धीरे बढ़ाया जा सके। सुमात्रा द्वीप के इलाके में ही यह बाघ मृत अवस्था में पाया गया है।

देखने से ही पता चल जाता है कि जीव को पकड़ने के लिए लगाये गये फंदे में वह फंस गया था। लगातार कोशिश के बाद भी वह खुद को इस फंदे से मुक्त नहीं करा पाया। लगातार करीब पांच दिनों तक इस फंदे में फंसे होने की वजह से इस बाघिन की मौत हो गयी।

पशुचिकित्सकों ने इसके शव का परीक्षण कर यह पता लगाया है कि इस विलुप्त प्राय प्रजाति के मादा बाघ की आयु करीब चार से पांच वर्ष है। उसकी लाश रविवार को बुकिट बाटू अभयारण्य में पायी गयी है।

विलुप्त प्राय प्रजाति की मौत पर सरकार गंभीर

जांच में यह भी पाया गया है कि फंदे में फंसने की वजह से उसका एक पैर भी टूट गया था। यह फंदा भी वहां जंगल में किसी अवैध शिकारी के द्वारा लगाया गया था।

विलुप्त प्राय प्रजाति होने की वजह से इस एक बाघिन की मौत को भी सरकारी स्तर पर गंभीरता से लिया गया है। इस बात की जांच प्रारंभ कर दी गयी है कि अभयारण्य के अंदर कौन से अवैध शिकारी इस तरीके की हरकत कर रहे हैं।




दरअसल इन बाघों की संख्या कम हो जाने की वजह से ही सरकार उनके संरक्षण के प्रति काफी गंभीर है।

वैसे विशेषज्ञ यह भी कह रहे हैं कि दरअसल कोरोना लॉकडाउन से बिगड़ी आर्थिक हालात ने भी अनेक लोगों को चोरी छिपे शिकार करने पर मजबूर कर दिया है क्योंकि उनके सामने भी परिवार का पेट पालने का बड़ा सवाल खड़ा हो गया है।

शिकारी ने शायद किसी दूसरे प्राणी को पकड़ने के लिए यह फंदा लगाया होगा, जिसमें यह बाघिन फंसकर मर गयी।

इसके पूर्व 11 जुलाई को भी पाम पेड़ की खेती के विशाल जंगल के बीच एक सर कटा हुआ हाथी भी पाया गया था। जिसके आरोप में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया था।

आरोप है कि वे लोग हाथी का दांत बेचने चाहते थे। इसके पूर्व जून में भी सुमात्रा बाघ को पकड़कर इसके अंगों को बेचने के आरोप में चार अन्य लोग पकड़े गये थे, जो उसके अंगों और हड्डियों को करीब सात हजार डॉलर में बेचने का सौदा कर चुके थे।



More from HomeMore posts in Home »
More from इंडोनेशियाMore posts in इंडोनेशिया »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पर्यावरणMore posts in पर्यावरण »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: