fbpx Press "Enter" to skip to content

रांची में झारखंड के सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मरीज

  • पुलिस सोशल डिस्टेंस का कड़ाई से करा रही पालन
  • शनिवार को आवश्यक सामान की खरीदारी के लिए सोशल डिस्टेंस का लोगों ने रखा ध्यान
  • रांची में तकरीबन सभी दुकानें बंद रहीं, केवल राशन व सब्जी की दुकानें ही खोली गई

रांची: रांची में फिलहाल शनिवार को इसका कोई खास असर नहीं दिखा। बहुत ही कम

दुकानें खुलीं। इसमें गली-मोहल्लों की दुकानों के अलावा आवासीय परिसरों में बनी दुकानें

भी शामिल हैं। सब्जी बाजारों में लोगों ने सोशल डिस्टेंस का पालन कर खरीदारी की। वहीं,

झारखंड में अब तक 64 कोरोना संक्रमित मरीज सामने आ चुके हैं। इनमें से आधे से

अधिक 42 मरीज रांची से हैं। केंद्र सरकार द्वारा छूट के दायरे के अनुसार, शहरी इलाकों में

मार्केट कॉम्लेक्स, मल्टी ब्रांड और सिंगल ब्रांड मॉल नहीं खोले जा सकेंगे।कोविड-19 के

संक्रमण और रोकथाम के लिए रांची जिला प्रशासन द्वारा जो व्यवस्था की गई है,

फिलहाल उसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है। कंटेनमेंट जोन में किसी भी तरह की

आवाजाही पर पूरी तरह से रोक जारी है। गृह मंत्रालय भारत सरकार की ओर से लॉकडाउन

के दौरान दुकानों को खोलने की छूट को लेकर गाइड लाइन जारी किया गया है, रांची जिला

प्रशासन की ओर से बहुत जल्द दिशा निर्देश जारी किया जाएगा, फिलहाल पुरानी

व्यवस्था ही बनी रहेगी।

रांची के हिंदपीढ़ी में 38 कोरोना संक्रमित मरीज

कोरोना संक्रमित मरीज रांची के हिंदपीढ़ी में 38 हैं। शुक्रवार को मिले दो नए मरीज

हिंदपीढ़ी के कुर्बान चौक निवासी 35 वर्षीय पति और 25 साल की पत्नी हैं। इन्होंने 19

अप्रैल को गुरुनानक स्कूल में सैंपल दिया था। जिसकी रिपोर्ट शुक्रवार को आई। इसमें

दोनों पॉजिटिव मिले। इनकी कॉन्टैक्ट हिस्ट्री मोहल्ले के लोगों की है।

फेस कवर या मास्क पहनना अनिवार्य

इधर, रांची में हर व्यक्ति को अब घर से बाहर निकलते समय, सार्वजनिक और

कार्यस्थलों पर फेस कवर या मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। इसका अनुपालन

सभी आम व खास लोगों को करना होगा। डीसी ने आदेश जारी कर दिया है। इसमें कहा है

कि बाजार में मिलने वाले ट्रिपल लेयर मास्क का प्रयोग करें। होम मेड तीन परतों वाला

फेस कवर बनाया जा सकता है। आदेश की अवहेलना करने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम

2005 और आईपीसी 1860 के तहत कार्रवाई होगी। आदेश को सुनिश्चित करने के लिए

एसडीओ और पुलिस पदाधिकारी को आदेश दिया गया है।

रूमाल-गमछा का भी कर सकते हैं उपयोग

डीसी ने आदेश में कहा है कि मास्क व फेस कवर उपलब्ध न हो तो गमछा, रुमाल, दुपट्टा

आदि को भी फेस कवर के रूप में प्रयोग कर सकते हैं। दोबारा प्रयोग करने से पहले साबुन

से अच्छी तरह साफ करना जरूरी है। पांच घंटे धूप में सूखा कर पांच मिनट इस्त्री करने के

बाद पुन: प्रयोग में लाने की बात कही गई है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!