fbpx Press "Enter" to skip to content

रामरेखा टोंगरी मेला में आदिवासियों और सदानों की साझा विरासत

  • पारंपरिक रीति रिवाज से हुआ सांस्कृतिक कार्यक्रम

  • चंपाडीह टोंगरी में कार्तिक पूर्णिमा महोत्सव का समापन

  • प्रकृति व संस्कृति को बचाने का संदेश: रेजन सिंह मुंडा

  • अखंड हरिकीर्तन और धार्मिक अनुष्ठानों का आयोजन

संवाददाता

लापुंग : रामरेखा टोंगरी में आदिवासियों और सदानों ने साझा विरासत के माध्यम से

सांस्कृतिक और धार्मिक ध्वज खड़ा किया आज भी उसी परंपरा का निर्वहन किया जा रहा

है उक्त बातें चंपाडीह गांव के ग्राम प्रधान रेजन सिंह मुंडा ने शहीद बड़ाईक गोविंद सिंह की

पुण्य तिथि में दो दिवसीय कार्तिक पूर्णिमा मेला महोत्सव का समापन समारोह के दौरान

कही। लापुंग प्रखंड के चंपाडीह गांव स्थित रामरेखा टोंगरी में शहीद बड़ाईक गोविंद सिंह

की पुण्य तिथि में दो दिवसीय कार्तिक पूर्णिमा मेला महोत्सव का समापन मंगलवार को

हो गया। मेले में पारंपरिक नृत्य व संगीत आकर्षण का केन्द्र बना रहा। मेला के

व्यवस्थापक व अखिल भारतीय रौतिया समाज विकास परिषद के कार्यकर्ताओं की

अगुवाई में रामरेखा टोंगरी में सादगी के साथ मेला का आयोजन किया गया। जहां

अतिथियों ने सामूहिक रूप से विधिवत मेले का उदघाटन दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ

किया।और रामरेखा टोंगरी में मत्था टेका। वहीं समिति के लोगों ने पारंपरिक रीति- रिवाज

व नृत्य-संगीत से स्वागत किया। इस मौके पर ग्राम प्रधान रेजन सिंह मुंडा ने कहा कि

मेला हमें प्रकृति व संस्कृति को बचाने का संदेश देता है। बुजुर्गो द्वारा स्थापित मेलों को

जारी रखना आज जरूरी है। मेला के आयोजन से युवाओं में भटकाव नहीं होता है।

रामरेखा टोंगरी का यह आयोजन पूर्वजों की देन है

मेला हमारे पूर्वजों की धरोहर है,इसे हमें संजोए रखने की जरूरत है। इससे आपसी

भाईचारगी और भी मजबूत होती है। मेला के माध्यम से ही रिश्ते प्रगाढ़ होते है। महोत्सव

को सफल बनाने में ग्राम प्रधान रेजन सिंह मुंडा,गंगा महतो,रोड़या महतो,देवेंद्र सिंह,अनुज

राम,जगदीश सिंह, पुजारी जगेश्वर पाठक व भरत दास का सराहनीय योगदान दिया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कला एवं मनोरंजनMore posts in कला एवं मनोरंजन »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: