fbpx Press "Enter" to skip to content

लॉकडाउन पर रामनवमी भारी, बाजारों में उमड़ी भक्तों की भीड़

झरिया : लॉकडाउन देश की स्वास्थ्य स्थिति को सुधारने के लिए किया गया है, पर

संभवत: इतिहास में यह पहला मौका है कि रामनवमी जैसे पावन पर्व बिना कोई शोर के हो

रहा है। हालांकि भक्तों में इस लॉक डाउन का असर नहीं देखा जा रहा है। बुधवार को

झरिया बाजार में रामनवमी को लेकर खरीददारों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। लॉक डाउन

जैसी स्थिति का आभास नहीं हो रहा था। पुलिस प्रशासन भी पूरी तरह मुस्तैद रहा।

सब्जी बाज़ार में वन-वे कर ट्रेफिक को कंट्रोल करने का प्रयास किया गया। पूरा बाजार

महावीरी पताका व बांस से पटा रहा। साथ पूजन सामग्री की खरीददारी भी किया। हालांकि

अभी तक जो सूचना प्राप्त है उसमें इस बार रामनवमी का अखाड़ा नहीं निकाला जा

सकेगा। इसको लेकर भक्तों में मायूसी भी है। लेकिन मानव जाति की रक्षा के लिए भक्त

यह भी करने को तैयार है। झरिया के विभिन्न अखाड़ाओं के प्रमुख ने कहा कि देश

सर्वोपरि है। इसलिए इसबार अखाड़ा नहीं निकाला जायेगा। वहीं पंडित मुन्ना पांडेय ने

बताया कि श्री हनुमान जी संकट मोचक है। हम सभी हनुमान जी से अनुरोध करे कि इस

विश्व व्यापी कोरोना संकट को जल्द हरे और संपूर्ण मानव जाति की रक्षा करे।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from इतिहासMore posts in इतिहास »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धनबादMore posts in धनबाद »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!