fbpx Press "Enter" to skip to content

राजस्थान के मुख्मंत्री ने कहा आवाजाही रोकने के लिए सीमाएं होगी सील

जयपुर : राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश की अन्तरराज्यीय

सीमाओं से अनाधिकृत व्यक्तियों के प्रवेश को रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा तुरंत

प्रभाव से राज्य की सभी अन्तरराज्यीय सीमाओं को सील कर रेगुलेट किया जाएगा। श्री

गहलोत ने कल रात्रि यहां मुख्यमंत्री निवास पर कोविड-19 के संक्रमण की स्थिति की

विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने कहा कि गत दिनों में देश के कई राज्यों में कोरोना पॉजिटिव

केसों की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है। देश भर में गत तीन दिन में 10 हजार कोरोना

पॉजिटिव केसेज रिपोर्ट हुए हैं। देश के अन्य राज्यों से भारी संख्या में बिना अनुमति के

लोगों के प्रवेश की संभावनाओं के मद्देजनर सीमाएं सील करने का फैसला लिया गया है।

उन्होंने कहा कि संकट की इस घड़ी में प्रदेशवासियों के जीवन की रक्षा ही हमारी सर्वोच्च

प्राथमिकता है। इसलिए अन्तर्राज्यीय आवागमन की अनुमति केवल भारत सरकार के

गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों एवं शर्तों की कड़ाई से पालना करते हुए ही दी

जाएगी। श्री गहलोत ने निर्देश दिए कि इसके लिए मुख्य सचिव अन्य सभी राज्यों के

मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर यह सूचित करें कि राजस्थान में आने के लिए केंद्रीय गृह

मत्रांलय के दिशा-निर्देशों में अनुमत श्रेणी के उन्हीं लोगों को आवागमन की अनुमति दी

जाएगी, जो इसकी सभी शर्तें पूरी करेंगे तथा राजस्थान की पूर्व सहमति भी प्राप्त करेंगे।

उन्होंने कहा कि राज्य से बाहर की यात्रा के लिए भारत सरकार की गाइडलाइन के अनुरूप

पात्रता पूर्ण करने वाले व्यक्ति को जिला कलेक्टर की अनुशंसा पर स्वीकृति गृह विभाग के

स्तर पर जारी की जाएगी। अन्य कोई अधिकारी इसके लिए अनुमति नहीं दे सकेगा।

राजस्थान के मुख्यमंत्री ने कहा सिर्फ जिला कलेक्टर देंगे अनुशंसा

अगर किसी ने अनुमति दी तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। श्री गहलोत ने कहा

केवल मेडिकल इमरजेंसी एवं परिवार में मृत्यु के मामलों में राज्य के कलेक्टर ई-पास

जारी कर सकेंगे, जिसकी सूचना उसी दिन राज्य के गृह विभाग को देनी होगी। इसके

अतिरिक्त राजस्थान सरकार की पूर्व अनुमति के पश्चात ही दूसरे राज्य राजस्थान में

आने के लिए परमिट जारी करेंगे। उन्होंने निर्देश दिए कि विदेश से आने वाले व्यक्ति जहां

भी लैण्ड करेंगे, उन्हें वहीं पर संस्थागत 14 दिन क्वारेंटीन किया जाएगा तथा इसके बाद

उनका आवश्यक रूप से कोविड टेस्ट किया जाएगा।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from पर्यटन और यात्राMore posts in पर्यटन और यात्रा »
More from बयानMore posts in बयान »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!