fbpx Press "Enter" to skip to content

रेलवे ने अनधिकृत पेयजल बोतलों की बिक्री के लिए देश भर में अभियान चलाया




नयी दिल्लीः रेलवे ने अपने स्टेशनों और ट्रेनों में अनधिकृत ब्रांड की पैकेज्ड पानी की बोतलें

बेचे जाने के खिलाफ देशव्यापी अभियान में 1371 लोगों को गिरफ्तार किया गया है

और लगभग छह लाख 80 हजार रुपए मूल्य की करीब 70 हजार पानी की बोतलें पकड़ी गयीं हैं।

रेल मंत्रालय ने गुरुवार को यहां बताया कि रेल सुरक्षा बल (आरपीएफ) के ‘ऑपरेशन थर्स्ट’ के अंतर्गत

आठ एवं नौ जुलाई को बल के महानिदेशक अरुण कुमार के निर्देश पर सभी जोनल प्रधान मुख्य

सुरक्षा आयुक्तों ने सारे प्रमुख स्टेशनों पर ये छापामार कार्रवाई की। इस कार्रवाई में 1371 लोगों को

रेलवे अधिनियम की धारा 144 एवं 153 के अंतर्गत अनधिकृत ब्रांड की पानी की बोतलें बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया

तथा कुल 69 हजार 294 बोतलें जब्त की गयीं जिनका मूल्य छह लाख 80 हजार 855 रुपये है।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार गिरफ्तार लोगों में चार पेंट्री कार मैनेजर भी शामिल हैं।

प्लेटफॉर्म के स्टॉलों पर अनधिकृत ब्रांड वाली पेयजल बोतलें ब्रिकी के लिए रखी पायीं गयीं।

सूत्रों ने बताया कि इस मामले में आगे की जांच की जा रही है और दोषियों को पकड़ने के लिए हरसंभव कदम उठाये जाएंगे।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में पटना रेलवे स्टेशन पर एक नल से बोतल में पानी भरकर

उसे सीलबंद कर ट्रेनों में बेचने की वीडियो वायरल हुई थी।

इस घटना के बाद सबसे पहले आरपीएफ ने बिहार के कई स्टेशनों के अलावा पश्चिम बंगाल के भी कुछ स्टेशनों पर अपना अभियान चलाया था।

इन अभियानों में फर्जी ब्रांड के बोतलबंद पानी के साथ साथ फर्जी भेंडर भी पकड़े गये थे।

पुलिस ने इन सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। अब इस घटना के बाद पूरे देश में

इस किस्म की जालसाजी के खिलाफ अभियान चलाया गया है।

जिससे पता चलता है कि भारतीय रेलवे की ट्रेनों में किस तरीके से लोगों को पानी बेचने के नाम पर ठगी का बड़ा कारोबार चल रहा है।



Rashtriya Khabar


Be First to Comment

Leave a Reply

WP2FB Auto Publish Powered By : XYZScripts.com