fbpx Press "Enter" to skip to content

झारखंड में राहुल गांधी ने किसान कर्ज माफी का मुद्दा दोहराया







  • छत्तीसगढ़ में कर्जा माफ से तस्वीर बदली
  • पीएम और सीएम दोनों सिर्फ बातें करते हैं
  • कालाधन कहां गया, सरकार जवाब दे
संवाददाता

सिमडेगा/ रांची: झारखंड में राहुल गांधी ने अपनी पहली चुनावी सभा को संबोधित करते हुए भाजपा

पर जमकर निशाना साधा। विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए सभी पार्टियों ने ताकत झोंक दी है।

कांग्रेस और बीजेपी के स्टार प्रचारक झारखंड में चुनावी सभा कर रहे हैं। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल

गांधी सोमवार को सिमडेगा में चुनावी सभा किया। राहुल ने यहां भी अपनी तरफ से किसानों को ही अपनी

प्राथमिकता के शीर्ष पर रखा। उन्होंने कहा कि अगर झारखंड में कांग्रेस गठबंधन की सरकार बनेगी तो

छत्तीसगढ़ की तरह यहां के किसानों का कर्जा माफ किया जाएगा। आदिवासियों के जल, जंगल और जमीन

की रक्षा की जाएगी। इसके साथ ही बेरोजगारी हटाने पर भी कांग्रेस गठबंधन की सरकार काम करेगी।

किसानों का कर्जा माफ छत्तीसगढ़ का बदला चेहरा

राहुल गांधी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में एक साल पहले चुनाव हुआ था। वहां भी झारखंड की तरह आदिवासी

भाई-बहन हैं। यहां जो आदिवासी, किसान और युवा के साथ बीजेपी की सरकार कर रही थी, वहां भी ऐसा ही

होता था। चुनाव के बाद कांग्रेस की सरकार बनी और कांग्रेस ने एक साल के अंदर वहां का चेहरा बदल दिया।

राहुल गांधी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में धान 2500 रुपए क्विंटल मिल रहा है। चुनाव के वक्त बीजेपी ने कहा था

कि ऐसा किया ही नहीं जा सकता है। राहुल गांधी ने कहा कि जहां भी बीजेपी की सरकार है वहां उद्योगपति को

जमीन दी जाती है, लेकिन किसान को धान का उचित मूल्य नहीं मिलता।

झारखंड में राहुल गांधी ने मोदी और दास दोनों को घेरा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री रघुवर दास हर भाषण में

रोजगार की बात करते हैं। मेक इन इंडिया की बात करते हैं। राहुल गांधी ने कहा कि मैं पूछना चाहता हूं कि

झारखंड के कितने युवाओं को रोजगार मिला? आपको एक भी व्यक्ति ऐसा नहीं मिलेगा जिसे रोजगार मिला हो।

मोदी ने कहा था कि कालेधन के खिलाफ लड़ाई लड़नी है, नोटबंदी कर दी गई।

उस समय लाइन में एक भी उद्योगपति लाइन में नहीं खड़ा था। किसान और बेरोजगारों को मोदी ने लाइन में

खड़ा कर दिया। राहुल ने कहा कि लोकसभा चुनाव के समय हमने न्याय योजना की बात की थी।

हर गरीब के बैंक अकाउंट में पैसा डालने की योजना थी। चुनाव हार गए, न्याय योजना नहीं ला पाए।

ऐसी योजना से देश की युवाओं को रोजगार मिल सकता है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply