fbpx Press "Enter" to skip to content

भीड़ में अकेले भिखारी की मदद के लिए आगे आये पुलिस वाले

रांचीः भीड़ ऐसी जिसे धक्कमपेल कहते हैं।

हजारों की संख्या में लोग पूजा का आनंद लेने और अपने साथ आये लोगों पर

नजर रखने पर ज्यादा व्यस्त थे। बीच

बीच में बारिश की वजह से पैरों के नीचे काफी फिसलन भी थी।

इसी भीड़ में लोगों की खुशियों के बीच वह अपने लिए भोजन तलाश रहा था।

लेकिन इतनी भीड़ में किसी को उसकी तरफ देखने की फुर्सत किसे थी।

सभी तो पूजा के आनंद में मशगूल थे।

इसी भीड़ के बीच वहां सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस वालों की चारों तरफ सतर्क नजर थी।

इन्हीं नजरों ने वहां भीड़ में अकेले भिखारी और उसकी जरूरतों को भी न सिर्फ समझा था

शायद महसूस भी कर लिया था।

इसलिए जब इन पुलिस वालों के लिए भोजन आया तो पुलिस वालों ने सबसे पहले

उसे भोजन देकर इंसानियत की मिशाल कायम करने का काम किया।

महावीर चौक के पास भीड़ को नियंत्रित करने के लिए तैनात रैफ (रैपिड एक्शन फोर्स) के

जवानों ने अपने हिस्से का भोजन उस भिखारी को देकर उसे भी पूजा के आनंद में शामिल होने का अवसर दे दिया।

वहां तैनात पुलिस वालों के लिए पैकेट के भोजन की व्यवस्था हुई थी।

पुलिस के अपने इंतजाम से जब यह भोजन पैकेट वहां तैनात रैफ के जवानों तक पहुंचाये गये।

तो यह घटना देखने को मिली।

रैफ के जवानों ने अपने भोजन से सबसे पहले भीड़ में भोजन तलाशते उस व्यक्ति को

एक पैकेट भोजन दिया। उसके बाद फिर से अपनी डियूटी पर लग गये।

भीड़ में अकेले भिखारी ने भी इस भोजन का आनंद लिया

पुलिस वालों से भोजन का पैकेट हासिल होने के बाद भिखारी ने कुछ देर तक आस-पास के इलाकों का मुआयना किया।

उसके बाद वह उसी भीड़ में अकेले होने के बाद भी भोजन के आनंद में डूब गया।

उसे दिल से खाते देख वहां तैनात रैफ के जवान भी प्रसन्न नजर आये।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धर्मMore posts in धर्म »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from लाइफ स्टाइलMore posts in लाइफ स्टाइल »

4 Comments

Leave a Reply