Press "Enter" to skip to content

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे में वायु सेना के हैरतअंगेज पराक्रम




सुल्तानपुर: पूर्वांचल एक्सप्रेस वे में मंगलवार को उस समय ऐतिहासिक पल इतिहास बने जब सुल्तानपुर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी में वायु सेना के जांबाज लड़ाकू विमानों ने एयर शो में आपात लैंडिंग का हैरतअंगेज प्रदर्शन किया।




प्रधानमंत्री मोदी द्वारा एक्सप्रेस वे का उद्घाटन किये जाने के बाद वायु सेना के अत्धुनिक लड़ाकू विमानों ने इस एक्सप्रेस वे पर बनी हवाई पट्टी को आपात लैंडिंग के इस्तेमाल किये जाने का प्रदर्शन किया।

इस दौरान भारतीय वायु सेना के जंगी बेड़े में शामिल लड़ाकू विमानों जगुआर, सुखोई और मिराज ने एक्सप्रेस वे पर जब बारी बारी से लैंडिंग की तो पूरा माहौल वायु सेना के शौर्य और पराक्रम के अभूतपूर्व प्रदर्शन से सराबोर हो गया।

इस अवसर पर मौजूद उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और सांसद मेनका गांधी ने भी लड़ाकू विमानों के पराक्रम से अभिभूत होकर तालियां बजाते हुये इनका जमकर उत्साहवर्धन किया।

उल्लेखनीय है कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर सुल्तानपुर में स्थित लगभग तीन किमी के हिस्से को वायु सेना के विमानों की आपात लैंडिंग के लिये हवाई पट्टी के रूप बनाया गया है।




लगभग 45 मिनट तक चले एयर शो के दौरान इन लड़ाकू विमानों ने न सिर्फ लैंडिंग की बल्कि विमान में ईंधन भरने और तकनीकी परीक्षण भी करने का सफल प्रयोग किया।

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे में मोदी का विमान आया और गया

हालांकि एयर शो की औपचारिक शुरुआत तो मोदी ने विश्व के अत्याधुनिक मालवाहक जंबो जेट ‘सी 130 जे हरक्यूलिस ग्लोबमास्टर’ विमान से एक्सप्रेस वे पर पहुंच कर ही कर दी थी।

दोपहर लगभग दो बजे ग्लोबमास्टर ने भारी गड़गड़ाहट के साथ ज्यों ही एक्सप्रेस वे पर लेंडिंग की, समूचा राजमार्ग, सड़क के दोनों ओर एकत्र हजारों लोगों की तालियों से गूंज उठा।

कार्यक्रम के समापन पर प्रधानमंत्री मोदी ने युद्धकाल में सैनिकों की आवाजाही के लिये इस्तेमाल होने वाले उसी हरक्यूलिस ग्लोबमास्टर से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के लिये वापसी की, जिससे चंद घंटे पहले उन्होंने एक्सप्रेस वे पर पहुंच कर सभी को चौंकाया था।



More from उत्तरप्रदेशMore posts in उत्तरप्रदेश »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: